क्या चल रहा है?

US में बाघिन मिली कोरोना पॉजिटिव, अब भारत ने जू के लिए दिए ये आदेश

  • न्यूयॉर्क के एक चिड़ियाघर में बाघिन को कोरोना
  • ‘जानवरों पर CCTV के जरिए नजर बनाए रखें’
  • हर 15 दिन में संदिग्ध जानवरों का टेस्ट होः CZA

न्यूयॉर्क के चिड़ियाघर में एक बाघिन के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सेंट्रल जू अथॉरिटी (सीजेडए) ने सोमवार को देशभर के सभी चिड़ियाघरों को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है. अथॉरिटी की ओर से स्तनधारी जीवों खासकर बिल्लियों, नेवले और बंदरों पर बारीकी से नजर बनाए रखने को कहा गया है.

सेंट्रल जू अथॉरिटी के सदस्य सचिव एसपी यादव ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भेजे अपने पत्र में कहा है कि न्यूयॉर्क के ब्रोनक्स चिड़ियाघर में एक बाघिन में कोरोना वायरस होने की पुष्टि यूनाइटेड स्टेट डिपार्टमेंट के एग्रीकल्चर्स नेशनल वेटनरी सर्विसेज लैबोरेटरीज की ओर से की जा चुकी है.

लगातार सतर्कता बरती जाए

पत्र में कहा गया है कि देश में चिड़ियाघरों को इसलिए उच्चतम सतर्कता बनाए रखने की सलाह दी जाती है और किसी भी असामान्य व्यवहार या लक्षणों के लिए सीसीटीवी का उपयोग करते हुए जानवरों पर हर समय नजर बनाए रखने की सलाह दी जाती है.

अथॉरिटी की ओर से कहा गया कि स्तनधारियों, खासतौर से बिल्लियों, नेवले और बंदरों पर बारीकी से नजर रखी जाए और संदिग्ध परिस्थितियों में कोरोना वायरस टेस्ट के लिए नामित पशु स्वास्थ्य संस्थानों में पाक्षिक रूप से नमूने भेजे जाएं.

पत्र में यह भी कहा गया कि ये नमूने भोपाल में राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान, हरियाणा के हिसार में राष्ट्रीय अनुसंधान केंद्र और उत्तर प्रदेश के बरेली में भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान को भेजे जा सकते हैं. साथ में यह भी हिदायत दी गई है कि बीमार जानवरों को आइसोलेट किया जाए और उन्हें क्वारनटीन किया जाए.

यह भी कहा गया कि किसी भी कीपर या हैंडलर को सुरक्षा गियर, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) के बिना जानवरों के आसपास के क्षेत्र में अनुमति नहीं दी जानी चाहिए. उन्हें चारा उपलब्ध कराते समय जानवरों से कम से कम संपर्क करना चाहिए.

ब्रोनक्स जू में बाघिन पॉजिटिव

इससे पहले न्यूयॉर्क के ब्रोनक्स जू में एक बाघिन में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. अमेरिका के कृषि विभाग के नेशनल वेटनरी सर्विसेज लैबरोटरीज के अनुसार, जानवरों में कोरोना पाए जाने की यह पहली घटना है.

ब्रोनक्स जू के वाइल्डलाइफ कन्जरवेशन सोसाइटी के अनुसार, 4 साल की मलायन प्रजाति की बाघिन को कोरोना का संक्रमण चिड़ियाघर के किसी कर्मचारी के जरिए ही हुआ है. कर्मचारी पहले से ही कोरोना से संक्रमित रहा होगा और उसके संपर्क में आने से शेरनी को भी कोरोना हो गया.

हालांकि आम लोगों के लिए यह चिड़ियाघर 16 मार्च से ही बंद कर दिया गया था. नादिया से सैंपल लिया गया और परीक्षण किया गया जिसमें बाघिन पॉजिटिव पाई गई. अब 5 अन्य शेर और चीता का सैंपल लिया गया है, जिसमें कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं. चिड़ियाघर के अन्य शेरों में भी इस वायरस के लक्षण दिख रहे हैं.

चिड़ियाघर की ओर से जारी सूचना के आधार पर बाघिन की बहन अजुल के अलावा अमूर टाइगर्स और 3 अफ्रीकन शेर को सूखी खांसी थी और उम्मीद की जा रही है कि वे जल्द ठीक हो जाएंगे. हालांकि अन्य जानवरों में इसके लक्षण नहीं दिखे हैं.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832