क्या चल रहा है?

खुल गया रामलला का बैंक अकाउंट, भक्त अब आसानी से कर सकेंगे दान

  • एसबीआई में खोला गया रामलला का बैंक अकाउंट
  • रामभक्त मंदिर निर्माण के लिए कर सकते हैं दान

सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद अब अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की तैयारी काफी तेज हो गई है. रामलला को गर्भगृह से निकाल कर नए मेकशिफ्ट मंदिर में पहुंचा दिया गया है ताकि मंदिर निर्माण में और तेजी लाई जा सके. अब मंदिर निर्माण से जुड़ा एक और अहम काम हो गया है. जिसके बाद मंदिर निर्माण में आम लोग भी हिस्सा ले सकते हैं.

जानकारी के मुताबिक आम श्रद्धालुओं के लिए रामलला का एक बैंक अकाउंट नंबर जारी किया गया है. दरअसल, भारतीय स्टेट बैंक में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का दान खाता खोल दिया गया है. राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चम्पत राय ने अकाउंट नंबर की घोषणा की है.

आपको बता दें कि रामभक्त सेविंग खाता संख्या 39161495808 और करेंट खाता संख्या 39161498809 में अपने मन मुताबिक दान कर सकते हैं. जिसका इस्तेमाल ट्रस्ट मंदिर निर्माण में करेगा.

ट्रस्ट के महामंत्री ने की खाते की घोषणा

खाताओं की घोषणा करते समय राम मंदिर ट्रस्ट के महामंत्री चम्पत राय ने कहा कि कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए किए गए लॉकडाउन के चलते राम मंदिर निर्माण के कार्य को पहले ही स्थगित किया जा चुका है. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि राम जन्मभूमि में राम जन्मोत्सव रीति से मनाया गया.

ट्रस्ट के महामंत्री ने बताया कि जन्मोत्सव के दौरान सुरक्षा में तैनात 2400 सुरक्षाकर्मियों के लिए पहली बार महावीर मंदिर ट्रस्ट पटना ने प्रसाद की व्यवस्था की. इसके साथ ही महावीर मंदिर ट्रस्ट ने राम मंदिर निर्माण के लिए 2 करोड़ का चेक भी दान किया.

नवरात्रि के पहले दिन लिखा गया नया अध्याय

अयोध्या में राम जन्मभूमि परिसर में 25 मार्च को मंदिर निर्माण का एक नया अध्याय लिखा गया था. चैत्र नवरात्रि के पहले दिन तड़के तीन बजते ही सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम जन्मभूमि के गर्भगृह पहुंचकर वहां तिरपाल के नीचे मौजूद रामलला की मूर्ति को मंत्रोच्चार के बीच अपने हाथों में लिया.

रामलला को लेकर मुख्यमंत्री पैदल ही गर्भगृह से करीब 200 मीटर दूर मानस भवन के नजदीक तैयार हो रहे नए अस्थायी मंदिर पहुंचे. यहां पुजारियों की देखरेख में योगी आदित्यनाथ ने रामलला को नए अस्थायी मंदिर में विराजमान किया.

बता दें कि पिछले वर्ष नवंबर में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद केंद्र सरकार ने फरवरी में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का गठन करने के साथ ही राम मंदिर निर्माण की दिशा में पहला कदम बढ़ाया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832