क्या चल रहा है?

PM और मुख्यमंत्रियों की मैराथन मीटिंग, मोदी ने दिए लॉकडाउन बढ़ाने के संकेत

  • पीएम मोदी ने दो हफ्ते लॉकडाउन बढ़ाने के दिए हैं संकेत
  • एक-दो दिन में देश को संबोधित कर सकते हैं पीएम मोदी

देश में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों में हर रोज इजाफा देखने को मिल रहा है. देश में अब तक 7000 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. कोरोना से जारी लड़ाई की आगे की रणनीति बनाने के लिए शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की. पीएम मोदी और मुख्यमंत्रियों के बीच हुई यह बैठक कई घंटों तक चली. सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में फिलहाल लॉकडाउन को दो हफ्तों तक बढ़ाने के संकेत पीएम मोदी ने दिए हैं. माना जा रहा कि पीएम 1-2 दिनो में लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान कर सकते हैं.

बैठक में अलग मास्क पहने नजर आए पीएम मोदी

इस बैठक की एक खास बात और सामने आई. पीएम मोदी ने इस बैठक में गमछे को मास्क बनाकर पहना हुआ था और मुख्यमंत्रियों से बातचीत कर रहे थे. पीएम मोदी का ये कदम उस संदेश के तौर पर लिया जा रहा है, जिसमें बार-बार ये कहा जा रहा है कि अगर किसी के पास क्लिनिकल मास्क या दूसरा कोई मास्क उपलब्ध न हो तो वे घर पर बना मास्क या किसी साफ कपड़े को ही मास्क के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं.

पीएम ने दिया जान और जहान की चिंता करने का संदेश

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से बातचीत के दौरान कहा कि लॉकडाउन की बात करते हुए मैंने कहा था- जान है तो जहान है. जब मैंने राष्ट्र के नाम संदेश दिया था, तो प्रारंभ में बल दिया था कि हर नागरिक की जान बचाने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बहुत आवश्यक है. देश के अधिकतर लोगों ने इस बात को समझा और घरों में रहकर अपना दायित्व भी निभाया. हम सभी ने भी इसी मंत्र पर चलते हुए देशवासियों की जिंदगी बचाने का प्रयास किया.

पीएम मोदी ने अपने संदेश में आगे कहा कि अब भारत के उज्जवल भविष्य के लिए, समृद्ध और स्वस्थ भारत के लिए, जान भी जहान भी, दोनों पहलुओं पर ध्यान आवश्यक है. जब देश का प्रत्येक व्यक्ति जान भी और जहान भी, दोनों की चिंता करते हुए अपने दायित्व निभाएगा, सरकार और प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन करेगा, तो कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई और मजबूत होगी.

24 घंटे बातचीत के लिए उपलब्ध हूं- मोदी

इस बैठक में सभी राज्यों ने एक सुर में कोरोना की जंग में केंद्र के साथ मिलकर काम करने पर सहमति जताई. प्रधानमंत्री ने भी राज्यों को हर संभव मदद का भरोसा दिया. बैठक शुरू होते ही प्रधानमंत्री ने कहा कि वो 24 घंटे बातचीत के लिए उपलब्ध हैं.

ममता ने की पैकेज की मांग

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से राज्यों की जीडीपी गिरी है. उन्होंने कहा कि इसकी भरपाई के लिए जरूरी है कि केंद्र सभी राज्यों को वित्तीय मदद दे, ताकि राज्य पूरी क्षमता के साथ कोरोना वायरस से लड़ सकें.

10 राज्यों के सीएम ने दिया लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव

प्रधानमंत्री की बैठक में 11 में से 10 मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव दिया है. दिल्ली, यूपी, पंजाब, राजस्थान, और ओडिशा के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन खुलकर बढ़ाने की वकालत की. बता दें कि ओडिशा और पंजाब ने पहले ही लॉकडाउन आगे बढ़ाने का ऐलान कर दिया

केजरीवाल ने की लॉकडाउन बढ़ाने की मांग

पीएम मोदी की मुख्यमंत्री के साथ बैठक में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने 30 अप्रैल तक लॉकडाउन को बढ़ाए जाने की मांग की है. सीएम केजरीवाल ने कहा कि लॉकडाउन बढ़ाए जाने का फैसला राष्ट्रीय स्तर पर होना चाहिए. राज्य अपने स्तर पर फैसला करेंगे तो उतना असर नहीं होगा. वहीं किसी तरह की ढील दी जाए तो किसी भी सूरत में ट्रांसपोर्ट नहीं खुलना चाहिए. न रेल, न सड़क और न एयर ट्रांसपोर्ट.

ममता ने भी रखी लॉकडाउन बढ़ाने की मांग

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज की बैठक में पीएम मोदी से देश में लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की बात कही थी. लेकिन साथ ही साथ उसमें कुछ ढील देने की बात भी कही थी. उन्होंने कहा था कि लॉकडाउन को बढ़ाया जाना चाहिए, लेकिन इसे मानवीय बनाया जाना चाहिए. इसके अलावा ममता बनर्जी ने बैठक में असंगठित क्षेत्र के लिए विशेष पैकेज की मांग भी रखी. बैठके दौरान ममता ने सलाह दी कि फिलहाल उड़ान और ट्रेनें बंद रखी जाएं. इसके साथ ही उन्होंने केंद्र से अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को ठीक से सील करने के लिए भी कहा है.

देश में लागू है 21 दिनों का लॉकडाउन

कोरोना संकट को देखते हुए 24 मार्च को देश में 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया गया था. 25 मार्च से शुरू हुए देशव्यापी लॉकडाउन का आखिरी दिन 14 अप्रैल है. हालांकि 21 दिनों के लॉकडाउन के बावजूद देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़े हैं. देश में अब तक कोरोना वायरस के सात हजार से ज्यादा संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832