क्या चल रहा है?

NewsWrap: लॉकडाउन बढ़ने पर सस्पेंस बरकरार, पढ़ें सोमवार शाम की बड़ी खबरें

1- देश के इन 25 जिलों में 14 दिनों से नहीं मिला कोरोना का कोई नया मरीज

कोरोना वायरस के खिलाफ हिन्दुस्तान की जंग जारी है. आज लॉकडाउन का 20वां दिन है, और इसका असर भी देखने को मिल रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश के 15 राज्यों के 25 ऐसे जिले हैं जहां पहले तो कोरोना वायरस के संक्रमित रोगी मिले थे, लेकिन पिछले 14 दिनों से यहां कोई नए मामले नहीं सामने आए हैं.

2- लॉकडाउन के बीच महाराष्ट्र में चालू होंगी फैक्ट्रियां, ब्लूप्रिंट हो रहा है तैयार

महाराष्ट्र सरकार राज्य में कुछ उद्योगों को राहत देने पर विचार कर रही है, ताकि राज्य के कुछ इलाकों में उद्योगों को फिर से चालू किया जा सके. सूत्रों के मुताबिक महाराष्ट्र के 7 जिलों में कोरोना वायरस का एक भी केस नहीं मिला है, जबकि 9 जिले ऐसे हैं जहां एक केस पाया गया है. सरकार इन जिलों में औद्योगिक गतिविधियां शुरू कर सकती है. यदि ये जिले पड़ोस के हैं तो सरकार यहां ट्रांसपोर्ट व्यवस्था भी शुरू कर सकती है.

3- कितना अलग होगा लॉकडाउन पार्ट-2, पीएम मोदी के संबोधन से पहले लग रहे ये कयास

कोरोना वायरस महासंकट के बीच देश में 21 दिनों का लॉकडाउन मंगलवार को खत्म हो रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को ही सुबह 10 बजे देश को संबोधित करेंगे, जिसमें वह लॉकडाउन को लेकर बात कर सकते हैं. इसे लेकर अब कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या प्रधानमंत्री अपने संबोधन में लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान करेंगे. अगर लॉकडाउन बढ़ता है तो उसमें किस तरह के बदलाव हो सकते हैं.

4- लॉकडाउन के बीच राहत की खबर, मार्च में भी खुदरा महंगाई दर घटी

कोरोना संकट के बीच आम आदमी के लिए महंगाई के मोर्चे पर थोड़ी राहत भरी है. लगातार दूसरे महीने खुदरा महंगाई दर में कटौती हुई है. मार्च में खुदरा महंगाई दर घटकर 5.91 फीसदी पर आ गई, जबकि फरवरी में खुदरा महंगाई दर 6.58 फीसदी थी. हालांकि इस दौरान पिछले साल खुदरा महंगाई दर महज 2.86 फीसदी थी.

5- बंगाल में क्यों कम मिल रहे कोरोना के केस, केंद्रीय टेस्टिंग लैब ने बताई वजह

पश्चिम बंगाल सरकार पर आरोप है कि वो केंद्रीय टेस्टिंग लैब को कम कोरोना टेस्टिंग सैंपल भेज रही है. अब तक पश्चिम बंगाल ने मात्र 2523 सैंपल ही टेस्ट के लिए भेजे हैं. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कॉलरा एंड एंटरिक डिजीज, पश्चिमी क्षेत्र के निदेशक डॉ. शांता दत्ता ने यह बात कही है.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832