क्या चल रहा है?

ICMR की एडवाइजरी, क्लस्टर-हॉटस्पॉट इलाकों में एंटीबॉडी ब्लड टेस्ट की सलाह

  • देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा तीन हजार पार
  • एंटीबॉडी-आधारित खून की जांच शुरू करने की तैयारी

देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. इस बीच इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने एक एडवाइजरी जारी की है. इसमें कोविड-19 के लिए क्लस्टर जोन और बड़े प्रवास केंद्रों में तेजी से एंटीबॉडी-आधारित खून की जांच शुरू करने के लिए कहा है.

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने जहां से कोरोना वायरस के संक्रमण के ज्यादा मामले आए हैं, उन क्लस्टर या हॉटस्पॉट इलाकों में ये टेस्ट करने की सलाह दी है. एडवाइजरी में उन मरीजों को 14 दिन होम क्वारनटीन के लिए कहा गया है, जिनमें इंफ्लूएंजा के लक्षण जैसे कि खांसी, बुखार या जुकाम हो. इसके बाद रैपिड एंटीबॉडी-आधारित ब्लड टेस्ट करवाने की बात कही गई है.

वहीं ब्लड टेस्ट से रिजल्ट पॉजिटिव आता है तो मरीज को ट्रीटमेंट दिए जाने और होम क्वारनटीन किए जाने की सलाह भी दी गई है. हालांकि ब्लड टेस्ट से इसकी जानकारी नहीं मिलेगी कि कोई शख्स कोरोना वायरस से पॉजिटिव है या नहीं. दरअसल, इसके जरिए ये जरूर पता चलेगा कि कोई व्यक्ति वायरस के संपर्क में आया था.

दूसरी ओर रैपिड एंटीबॉडी ब्लड टेस्ट निगेटिव आने पर लोगों को होम क्वारनटीन में रहना होगा. हालांकि एंटीबॉडी ब्लड टेस्ट पॉजिटिव पाए जाने पर कोरोना वायरस की पुष्टि गले या नाक से लिए नमूनों के आरटी-पीसीआर से की जाएगी. दरअसल, कोरोना वायरस की सटीक जानकारी के लिए स्वैब के जरिए आरटी-पीसीआर टेस्ट होता है. यह गले या नाक से लिया जाता है.

देश में कितने मामले?

देश में लगातार कोरोना वायरस के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं. देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 3 हजार के पार पहुंच गई. वहीं कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की संख्या में भी लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832