क्या चल रहा है?

IAS का सुझाव- 2 घंटे के लिए खोले जाएं ठेके, कहीं ड्रग न लेने लग जाएं शराबी

  • चंडीगढ़ के IAS ने लोगों से पूछी राय
  • रोज दो घंटे खोले जाएं शराब की दुकानें
  • लॉकडाउन की वजह से है संपूर्ण बंदी

कोरोना वायरस की वजह से देश में लॉकडाउन लागू है. जरूरी चीजें जैसे दवा, राशन, सब्जी, दूध जैसी दुकानों को छोड़कर सभी व्यवसायिक गतिविधियां ठप हैं. इस बीच एक आईएएस ने अजीबोगरीब सुझाव दिया है. आईएएस मनोज परीदा ने कहा है कि उन्हें एक डॉक्टर ने सुझाव दिया है कि 2 घंटे के लिए शराब की दुकानें खोली जाएं, क्योंकि कहीं ऐसा न हो कि शराब की लत के शिकार लोग ड्रग लेने लग जाएं.

2 घंटे के लिए खोली जाए शराब की दुकानें

आईएएस मनोज परीदा चंडीगढ़ में बड़ी प्रशासनिक जिम्मेदारी संभालते हैं. वे चंडीगढ़ के प्रशासक बी पी बदनोर के प्रशासनिक एडवाइजर हैं. ट्विटर पर उन्होंने आम जनता से पूछा है कि एक डॉक्टर ने उन्हें सलाह दी है कि कहीं शराब की लत के शिकार लोग ड्रग एडिक्ट ना बन जाएं या फिर डिप्रेशन में ना चले जाएं तो ऐसे लोगों के लिए दिन में 2 घंटे शराब के ठेके चंडीगढ़ में खोले जाएं या नहीं ? कृपया आप लोग अपनी सलाह दें.

मनोचिकित्सकों की क्या है राय

बता दें कि मनोचिकित्सकों और डॉक्टरों का कहना है कि शराब न मिलने की वजह से इसके आदी लोगों को मानसिक समस्याएं हो सकती हैं. दिल्ली के डॉक्टर वेंकट कृष्णन का कहना है जो लोग रोज शराब पीते हैं उन्हें समस्या हो सकती है, जब उन्हें शराब ना मिले तो कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं.

डॉक्टर वेंकट कृष्णन का कहना है, “ऐसी समस्याओं के लक्षण शराब ना मिलने के दो से तीन दिन बाद ही नजर आते हैं, ऐसे लोगों को घबराहट हो सकती है, पसीना आ सकता है, दिल की धड़कन तेज हो सकती है. ऐसे लोगों के अंदर गुस्सा ज्यादा आता है या चिड़चिड़ापन हो जाता है. शराब की लत वाले ऐसे मरीज शराब ना मिलने पर या तो बिल्कुल चुप हो जाते हैं या मारपीट भी करने लगते हैं. उन्होंने कहा कि अगर ऐसे लक्षण किसी के अंदर हैं तो उसकी अनदेखी न करें बल्कि तुरंत किसी डॉक्टर के पास ले जाएं.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें

दिल्ली में शराब की तस्करी

बता दें कि लॉकडाउन के बीच दिल्ली में भी शराब की तस्करी की खबरें आ रही हैं. सोमवार को दिल्ली के वीआईपी इलाके राष्ट्रपति भवन के नजदीक दूध ले जाने के लिए इस्तेमाल होने वाले बर्तन में शराब की तस्करी की खबर आई थी. पुलिस ने इस मामले में एक शख्स को गिरफ्तार किया था और उसके पास से शराब की बोतलें भी बरामद की थीं.

चंडीगढ़ में हैं कोरोना के मरीज

बता दें कि चंडीगढ़ और चंडीगढ़ से सटे हरियाणा और पंजाब में भी कोरोना के मरीज हैं. चंडीगढ़ में कोरोना के 18 पॉजिटिव केस हैं. हरियाणा में कोरोना के 90 मरीज हैं, यहां 25 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि एक की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है. पंजाब में कोरोना के 76 मरीजों का इस वक्त इलाज चल रहा है. यहां 6 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है जबकि 4 लोग ठीक हो चुके हैं.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//whugesto.net/afu.php?zoneid=3256832