क्या चल रहा है?

सोशल मीडिया पर अपनी मदद के वीडियो देख आहत हैं प्रवासी, अब घर जाना चाहते हैं

  • जरूरतमंदों की प्रशासन, आरडब्ल्यूए, निजी संस्थाएं कर रहीं हैं मदद
  • कई जरूरतमंद परिवार के बच्चों को पहनने के लिए चप्पल तक नहीं हैं

गुड़गांव. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए चल रहे लॉकडाउन को एक महीने हो चुके हैं। इससे प्रवासी दिहाड़ीदार मजदूर तथा श्रमिक एंव आर्थिक रुप से कमजोर व्यक्ति अधिक प्रभावित हो रहे हैं। कई जरूरतमंद परिवार के बच्चों पर पहनने के लिए चप्पल भी नहीं हैं। जो नंगे पैर तेज धूप में खाना लेने आते हैं। इन जरूरतमंद लोगों को जिला प्रशासन तथा आरडब्ल्यूए, उद्योगपति, निजी संस्थाएं तथा समाजसेवी पका हुआ खाना तथा सूखा राशन वितरित कर रहे हैं।  इन संस्थाओं तथा समाजसेवियों एवं आरडब्ल्यूए के सदस्यों द्वारा राशन व खाना वितरण करने के दौरान फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर डालने से ये जरूरतमंद लोग आहत हैं। भोजन के लिए मशक्कत करते अपने वीडियो व फोटो देखकर जरूरतमंद लोगों को बुरा लग रहा है। निकट भविष्य में सुधार का भरोसा नहीं मिलने से यह लोग अब पलायन करने की सोचने लगे है। भाेजन लेने के लिए लंबी लाइनों में लगे लोग अब गुहार लगा रहे हैं कि उन्हें किसी तरह से घर पहुंचा दिया जाए।
क्या कहते हैं जरूरतमंद

बिजनौर निवासी राजेंद्र ने बताया कि वह बेलदारी का काम करते हैं, तीन बच्चों सहित 5 लोगों का परिवार है, बच्चे अभी छोटे हैं। जब से लॉकडाउन लगा है तक से काम नहीं मिलने के कारण समाजसेवियों द्वारा बच्चों सहित खाना लेकर खाते हैं लेकिन ये लोग फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर डालकर सबकी नजरों में हमें भिखारी बना रहे हैं। जिसके कारण खाना लेने के लिए जमीर नहीं मानता। लेकिन मरता क्या न करता। बंगाल निवासी हजरत ने बताया कि जिला प्रशासन तथा समाजसेवी लोग हर जरूरतमंद के लिए नेक कार्य कर रहे हैं। लेकिन फोटो खींचकर मीडिया पर देने से डर लगा रहा कि सोशल मीडिया पर हमारे घर पर कोई देखकर फोन ना कर दे कि वह गुड़गांव में भीख मांगकर खा रहा है। वहीं बिहार निवासी साधु सिंह ने बताया कि सुखा राशन लेते जब लोगों द्वारा फोटो खिंचे जाते हैं तो ऐसा लगता है। कि जैसे ये समाजसेवी हमारी मदद नहीं कर रहे हैं बल्कि हमारी मजबूरी का फायदा उठाकर हमें भिखारी समझ रहे हैं। इसलिए लॉकडाउन खुलते ही यहां से काफी संख्या में लोग अपने घर को पलायन कर जाएंगे।

सबसे नया

To Top
//luvaihoo.com/afu.php?zoneid=3256832