क्या चल रहा है?

सीबीएसई छात्रों को दे सकता है राहत, कक्षा 9 से 12वीं तक का सिलेबस हो सकता है कम, साइंस, मैथ, इंग्लिश में एक-दो यूनिट हो सकती हैं कम

  • स्कूलों से पूछा गया है कि सिलेबस में कटौती करने से कितना फायदा होगा और वह बचे हुए सत्र में किस तरह से पढ़ाई करा सकते हैं

फरीदाबाद. लॉकडाउन के कारण सीबीएसई अपने पाठ्यक्रम में कुछ बदलाव करने जा रहा है। बोर्ड कक्षा 9 से 12वीं तक के छात्रों को राहत देते हुए 2020-21 शिक्षा सत्र के सिलेबस में कुछ यूनिट कम कर सकता है, जिससे छात्रों का कोर्स बकाया सत्र में समय पर पूरा हो सके। बोर्ड ने इस बदलाव को लेकर सभी निजी स्कूलों से राय मांगी है। पूछा है कि सिलेबस में कटौती करने से छात्रों को कितना फायदा होगा और वह बचे हुए सत्र में किस तरह से पढ़ाई कर सकते हैं। सीबीएसई की नोडल अधिकारी के अनुसार जल्द ही इस पर फैसला लिया जा सकता है।

सिलेबस को समय पर पूरा करने के लिए उठाया जा रहा यह कदम 

सेक्टर-9 स्थित डिवाइन पब्लिक स्कूल के डायरेक्टर एसएस गोसांई के अनुसार मीटिंग में कहा गया कि लॉकडाउन के दौरान शैक्षणिक सत्र के लिए समय बहुत कम बचा है, ऐसे में सिलेबस कैसे पूरा होगा। इसलिए उम्मीद है कि सीबीएसई बोर्ड कक्षाओं के सिलेबस में कुछ चैप्टर कम कर दे। बाकी कक्षाओं के सिलेबस से भी एक से दो यूनिट कम करने को लेकर जल्द निर्णय लिया जा सकता है।

बोर्ड की ओर से योजना बनाई जा रही है। उम्मीद है इस बार सिलेबस में कुछ कटौती कर दी जाए, क्योंकि कोरोना की वजह से शैक्षणिक सत्र का काफी समय बर्बाद हुआ है। -नीलिमा जैन, जिला नोडल अधिकारी, सीबीएसई

इन कक्षाओं का सिलेबस हो सकता कम | बोर्ड 11वीं और 12वीं कक्षा के बायोलॉजी, केमिस्ट्री, कंप्यूटर साइंस, इकोनॉमिक्स, इंग्लिश कोर, फिजिक्स, मैथ विषय में कुछ यूनिट कम कर सकता है। साथ ही 9वीं कक्षा की इंग्लिश लैंग्वेज एंड लिटरेचर, हिंदी ए-हिंदी बी विषय के सिलेबस में भी कुछ चैप्टर कम हो सकते हैं। इसके साथ ही 10वीं कक्षा की सोशल स्टडी के सिलेबस में भी बदलाव किया जा सकता है।

हर रविवार शिक्षाविद देंगे छात्रों के सवालों के जवाब
एजुसेट के माध्यम से छात्रों की शंकाओं के समाधान के लिए अब हर रविवार को  विशेषज्ञ और शिक्षाविद दूर करेंगे। छात्रों के सभी सवालों के जवाब देंगे। 26 अप्रैल को इसका पहला लाइव प्रसारण होगा। इसमें छात्रों द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब दिया जाएगा। अधिकारियों के अनुसार छात्र ई-मेल, फेसबुक, ट्विटर, वॉट्सएप आदि के माध्यम से प्रश्न पूछ सकते हैं। इसका शिक्षाविद जवाब देंगे।

यहां भेजें अपने सवाल

  •  ऑनलाइन लिंक: www.haryanaedusat.com
  •  ट्विटर:School Education Haryana Edusat,  https://twitter.com/sedusat
  •  फेसबुक पेज: – www.facebook.com/edusatharyana

 

सबसे नया

To Top
//whugesto.net/afu.php?zoneid=3256832