काल चक्र

सिर्फ 2-4 दिन का बचा है स्टॉक, दिल्ली सरकार ने मांगे 50 हजार पीपीई किट

  • 7 से 8 हजार पीपीई किट बचे हुए हैं
  • राजधानी में 386 केस सामने आए हैं

कोरोना महामारी के खिलाफ हर मोर्चे पर कोशिश जारी है. हालांकि कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं. देशभर में 2900 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 77 लोगों की मौत हो चुकी है. बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए दिल्ली सरकार ने पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट) किट की डिमांड की है.

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि अब तक राजधानी में 386 मामले सामने आए हैं, जिसमें निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज से लौटे 259 लोग भी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि 7 से 8 हजार पीपीई किट बचे हुए हैं, जो 2 से 3 दिन का स्टॉक है.

उन्होंने कहा कि हमने तत्काल 50 हजार पीपीई किट की डिमांड की है. बीते दो दिनों में जमात से जुड़े 600 लोग क्वारनटीन किए गए हैं. हमारी कोशिश है कि सभी मरकज से लौटे लोगों को ट्रेस कर लिया जाए.

गंगाराम में 108 स्टाफ क्वारनटीन

शनिवार को दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल के 108 स्टाफ को क्वारनटीन किया गया. इन 108 लोगों में से सीनियर डॉक्टर, नर्स और मेडिकल स्टाफ शामिल हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण के डर से अस्पताल प्रशासन ने ये फैसला लिया है.

बता दें कि यहां पर दो ऐसे लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जो इस अस्पताल में दूसरी बीमारियों का इलाज कराने आए थे. पहले इन मरीजों में कोरोना वायरस के कोई लक्षण नहीं पाए गए थे, लेकिन जब इनका टेस्ट किया गया तो ये कोरोना पॉजिटिव पाए गए.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832