क्या चल रहा है?

संदिग्ध महिला के अंतिम संस्कार करने गई टीम पर ग्रामीणों ने पत्थर बरसाए, शव को गांव के श्मशान में लाने का विरोध

  • 80 साल की महिला की अम्बाला सिविल अस्पताल में मौत हुई थी, कोरोना सैंपल की जांच रिपोर्ट नहीं आई है
  • प्रशासन ने कोरोना संदिग्ध और संक्रमितों की होने की स्थिति में चंदपुरा गांव के श्मशान घाट को चिह्नित किया, इसी का विरोध

अम्बाला. तोपखाना इलाके की 80 साल की कोरोना संदिग्ध महिला की मौत के बाद अंतिम संस्कार करने 9 किलोमीटर दूर चंदपुरा गांव में पहुंची प्रशासन की टीम पर ग्रामीणों ने पथराव किया।

घटना सोमवार शाम की है। ग्रामीणों ने अंतिम संस्कार करने से रोकने के लिए पुलिस, नगर परिषद और स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हमला किया। एंबुलेंस के शीशे तोड़ दिए गए। उग्र भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने दो से तीन हवाई फायर किए। प्रशासन का तर्क है कि कोरोना के संदिग्ध केसों का पूरी एहतियात के साथ अंतिम संस्कार के लिए कुछ श्मशान घाट तय किए गए हैं। चंदपुरा उन्हीं में से एक है।

जिला प्रशासन की टीम पर पथराव करने वालों के घरों में जाते पुलिकर्मी। लोगों को घरों से बाहर निकालकर गिरफ्तार किया गया।तोपखाना परेड इलाके की बुजुर्ग महिला को सांस संबंधी बीमारी थी। रविवार को उसे कैंट सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार सुबह मौत हो गई। कुछ दिनों से स्वास्थ्य विभाग ऐहतियातन शवों के भी सैंपल कोरोना टेस्ट के लिए भेज रहा है। बुजुर्ग महिला का भी सैंपल जांच के लिए भेजा गया, जिसकी रिपोर्ट आनी है। पहले स्वास्थ्य विभाग और नगर परिषद के कुछ लोग पीपीई किट पहनकर पुलिसकर्मियों और महिला के परिजनों के साथ शव लेकर गांव पहुंचे।

इस पर ग्रामीण विरोध करने लगे। वरिष्ठ अधिकारी और अन्य थानों का पुलिसबल भी पहुंचा। ग्रामीणों ने श्मशान में महिला का अंतिम संस्कार करने का विरोध किया, क्योंकि वह महिला गांव की नहीं थी। बातचीत तीखी नोंक-झोंक और पथराव में तब्दील हो गई। ग्रामीणों ने डंडों, ईंटों और पत्थर से पुलिस पर हमला कर दिया। पुलिस ने हवाई फायर और लाठीचार्ज कर ग्रामीणों को खदेड़ा।

कार्रवाई को लीड कर रहे पुलिसकर्मियों से फोन पर बात करते हुए एसडीएम सुभाष सिहाग। 

पुलिस ने पथराव करने वाले ग्रामीणों को घर-घर जाकर हिरासत में लिया। कई लोगों की डंडे से पिटाई भी की, जिनमें महिलाएं भी शामिल थीं। डीएसपी रामकुमार ने बताया कि पथराव में 5-6 कर्मियों को चोटें आईं। अब करीब 200 लोगों पर केस दर्ज करने की कार्रवाई हो रही है। जानलेवा हमला करने, लॉकडाउन तोड़ने, धारा 144 तोड़ने और संक्रमण का खतरा बढ़ाने की धाराएं लगाई जा रही हैं। 15 से 20 लोगों को हिरासत में लिया गया है। प्रशासन ने देर शाम महिला का अंतिम संस्कार कराया।

चंदपुरा गांव में पकड़े गए आरोपियों को लेकर जाते हुए पुलिस टीम। 

अम्बाला कैंट के एसडीएम सुभाष सिहाग का कहना है कि कैंट अस्पताल में तोपखाना की बुजुर्ग महिला एडमिट हुई थी। उसकी सोमवार को मौत हो गई। संदिग्ध होने के कारण महिला का सैंपल जांच के लिए भेजा गया। कोरोना संदिग्ध केस में नगर परिषद टीम द्वारा दाह संस्कार के लिए चंदपुरा गांव की जमीन निर्धारित की गई है। जब संस्कार करने लगे तो ग्रामीणों ने विरोध किया। कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव किया। पुलिस को भी कार्रवाई करनी पड़ी। बाद में प्रोटोकॉल के हिसाब से संस्कार किया गया।

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832