क्या चल रहा है?

लॉकडाउन पर मायावती का ट्वीट- लोगों की रोजी-रोटी को ध्यान में रख फैसला करे सरकार

  • लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने को लेकर मंथन जारी
  • मायावती का ट्वीट- लोगों को ध्यान में रख फैसला ले सरकार

कोरोना वायरस के संकट के बीच भारत सरकार ने देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लागू किया हुआ है. 14 अप्रैल को ये खत्म हो रहा है, इस बीच इसकी अवधि को लेकर मंथन जारी है. बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने इसको लेकर ट्वीट किया है और कहा कि सरकार लोगों की रोजी-रोटी को ध्यान में रखकर आगे का फैसला ले.

बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट किया, ‘देश में कोरोना के बढ़ते घातक प्रकोप मामले में केन्द्र व राज्य सरकारों को पूरे तालमेल से काम करने के साथ ही देश की 130 करोड़ जनता की रोजी-रोटी व उनके व्यापक हित को ध्यान में रखकर ही अगला फैसला लेने की जरूरत है. बीएसपी, सरकार के ऐसे सर्वजन हिताय के फैसलों का जरूर स्वागत करेगी.’

मायावती का ये बयान उस वक्त आया है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लोकसभा और राज्यसभा में सभी राजनीतिक दलों के फ्लोर लीडर से चर्चा कर रहे हैं. इसमें लॉकडाउन और कोरोना वायरस के मसले पर चर्चा हुई.

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों में कई राज्य सरकारों के द्वारा अपील की गई है कि लॉकडाउन की अवधि को बढ़ा देना चाहिए. इसी के बाद से ही लॉकडाउन की अवधि को लेकर चर्चा शुरू हो गई है.

उत्तर प्रदेश में बढ़े हैं कोरोना के मामले

अगर उत्तर प्रदेश की बात करें तो राज्य में कोरोना वायरस से जुड़े केस की संख्या 300 के पार चली गई है, जिसमें अधिकतर केस गौतमबुद्ध नगर जिले से हैं. ऐसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से भी लॉकडाउन को बढ़ाने के संकेत ही दिए गए हैं.

यूपी के अलावा तेलंगाना, पुडुचेरी, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश समेत अन्य कई राज्यों ने केंद्र सरकार से अपील की है कि कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाना चाहिए. जिसमें चरणबद्ध तरीके से लेकर दो हफ्ते तक बढ़ाने का सुझाव दिया गया है.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832