क्या चल रहा है?

लॉकडाउन के बीच दिल्ली पुलिस की अपील, शब-ए-बरात पर ना निकलें घर से बाहर

  • कोरोना से जंग के लिए लागू 21 दिन का लॉकडाउन
  • लॉकडाउन के बीच 8-9 अप्रैल को है शब-ए-बारात

देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. कोरोना के संक्रमण को काबू करने के लिए भारत में 21 दिन का लॉकडाउन लागू है. इसके बाद भी कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है. लोगों से सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की अपील की जा रही है. वहीं, 8/9 अप्रैल को शब-ए-बरात है, जिसमें मुस्लिम समाज के लोग भारी संख्या में मस्जिदों में इकट्ठा होते हैं और इबादत करते हैं. इस बीच दिल्ली पुलिस ने शब-ए-बरात के मौके पर लोगों से घरों से बाहर ना निकलने की अपील की है.

दिल्ली पुलिस ने मुस्लिम समुदाय से अपील करते हुए कहा कि शब-ए-बरात यानी 8 और 9 अप्रैल को घर से बाहर न निकलें. दिल्ली पुलिस ने कहा, किसी भी तरीके से दिल्ली की गली मोहल्लों में इकट्ठे न हों. साथ ही दिल्ली पुलिस ने धर्म गुरुओं और RWA से भी अपील की है कि वो लोगों से लॉकडाउन का पालन करवाएं.

दिल्ली पुलिस ने पोस्टर के माध्यम से घरों में रहने की अपील के साथ चेतावनी भी दी है. जिसमें कहा गया है कि किसी भी तरीके से कानून का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. जो कोई व्यक्ति 8 और 9 अप्रैल यानी शब-ए-बारात के दिन बाहर निकलेगा उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी

पूरे देश में लागू लॉकडाउन के बीच अपील की जा रही है कि बहुत जरूरी ना हो तो अपने घर से बाहर ना निकलें. गौरतलब है कि निजामुद्दीन मरकज में लोगों के जुटने के बाद से दिल्ली में कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़ती जा रही है. इसलिए एहतियात के तौर पर पुलिस ने शब-ए-बरात पर लोगों से अपने घरों में रहने की अपील की है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

क्या है शब-ए-बरात

मुस्लिम समाज के लिए शब-ए-बरात इबादत की रात होती है. मुसलमान शब-ए-बरात को रात भर जागकर अल्लाह की इबादत करते हैं, और अपने गुनाहों से तौबा करते हैं. इस बार 08/09 अप्रैल को शब-ए-बरात है. मुसलमानों के लिए इस रात की खास फजीलत मानी जाती है.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832