क्या चल रहा है?

राज्य के 8 जिलों में किसान-मजदूरों ने किया प्रदर्शन; गुरदासपुर, पठानकोट और अमृतसर 150 कारीगर श्रीनगर में फंसे

  • अब तक राज्य में कुल 399 लोग संक्रमित पाए जा चुके, बीते 24 घंटे मेंं संक्रमण के 54 नए मामले सामने आए
  • लुधियाना के वार्ड-30 में पार्षद के दफ्तर के सामने राशन नहीं मिलने से नाराज लोग रोज प्रदर्शन कर रहे हैं

जालंधर. पंजाब में कोरोना वायरस के संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए पिछले 39 दिन से कर्फ्यू लगा हुआ है। लोगों से घरों में रहने की अपील की जा रही है, वहीं दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को लाए जाने का क्रम भी जारी है। हालांकि इनमें से कई में कोरोना के लक्षण पाए जाने के चलते चिंता भी बढ़ी है। दूसर बड़ी परेशानी लॉकडाउन के चलते कर्मचारियों के वेतन की है। इसी बीच  किसान भी परेशान हो रहे हैं। राज्य के आठ जिलों के 277 गांवों में रोष प्रदर्शन किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी ने सरकार से गेहूं पर लगाए गए वैल्यू कट को हटाने, किसानों को 200 रुपए प्रति क्विंटल गेहूं पर बोनस दिए जाने और मंडियों में खरीद प्रबंध सही कराने की मांग की।
कोरोना अपडेट

  • राज्य में अब तक कुल 399 लोगों को संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। जालंधर जिले में सबसे ज्यादा 89 मामले सामने आए हैं। कुल संक्रमितों में से राज्य में 20 की मौत भी हो गई है। मृतकों में छह माह की बच्ची, लुधियाना के एसीपी, अमृतसर के पद्मश्री रागी निर्मल सिंह भी शामिल रहे।
  • बीते दिनों जहां तब्लीगी जमात से जुड़े लोग संक्रमण की चेन तोड़ने में बड़ी चुनौती बने हुए थे, वहीं अब बाहरी राज्यों से लाए जा रहे, खासकर नांदेड़ से लौट रहे श्रद्धालु बड़ी परेशानी बन चुके हैं। बुधवार को सामने आए 54 मामलों में 42 श्रद्धालुओं के हैं।
  •  बड़ी परेशानी कर्मचारियों के वेतन की आ रही है। जालंधर में नगर निगम कर्मियों को वेतन देने के लिए हर माह करीब 13 करोड़ रुपए की जरूरत होती है। वहीं, मेयर जगदीश राज राजा के मुताबिक नगर निगम के पास इस समय 40 करोड़ रुपए से ज्यादा के फंड मौजूद हैं। इसी तरह पठानकोट और दूसरे शहरों में भी जीएसटी के फंड से निगम कर्मियों को वेतन दिया जाएगा।

महाराष्ट्र के नांदेड़ से श्रद्धालुओं को लेकर बठिंडा पहुंची स्पेशल बसें।बठिंडा: 4 दिन पहले भेजी गई 80 बसें नांदेड़ से श्रद्धालुओं को लेकर लौटी
श्री हुजूर साहिब नांदेड़ में फंसे श्रद्धालुओं को सरकार के आदेशों पर पंजाब में लाया। चार दिन पहले 80 बसें नांदेड़ भेजी थी, जो डबवाली के रास्ते डूमवाली बॉर्डर पर पहुंची। बठिंडा प्रशासन द्वारा इनका डाटा कलेक्ट करने के बाद इन्हें यहां क्वारैंटाइन करने की बजाय उनके जिलों में भेज दिया। इसके साथ ही वहां के प्रशासन को सूचित कर दिया कि जिलों में कितने-कितने यात्री आ रहे हैं।

श्रीनगर में फंसे पंजाब के विभिन्न जिलों से ताल्लुक रखने वाले लकड़ी के कारीगर। इन्होंने गुरदासपुर में विधायक से फोन पर बात करके वहां से निकाले जाने की अपील की है।

गुरदासपुर: विधायक से फोन पर संपर्क किया श्रीनगर में फंसे लोगों ने
पंजाब के करीब 150 लकड़ी कारीगर श्रीनगर के तराल डिग्री कॉलेज में फंसे हुए हैं। इनमें से अधिकतर जिला गुरदासपुर और शेष पठानकोट व अमृतसर से संबंधित हैं। इन्होंने विधायक बरिंदरमीत सिंह पाहड़ा से फोन पर संपर्क कर उन्हें वापस लाने की गुहार लगाई गई है। विधायक ने मामला मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह के ध्यान में लाकर उन्हें जल्द वापस लाने का आश्वासन दिया है।

लुधियाना के वार्ड-30 के पार्षद के दफ्तर के सामने भीड़ को कंट्रोल करती पुलिस। यहां आए दिन राशन के लिए प्रदर्शन हो रहे हैं। पार्षद का कहना है कि वह खुद सरकार से लड़ रहे हैं।

लुधियाना: राशन के लिए प्रदर्शन कर रही भीड़ में पथराव, पुलिस ने किया लाठीचार्ज
लुधियाना के वार्ड-30 के पार्षद जसपाल सिंह ग्यासपुरा के दफ्तर के सामने राशन न मिलने से नाराज लोग रोज धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। आज फिर सैकड़ों श्रमिकों ने नारे लगाए। इसी बीच कुछ युवकों ने पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। उपद्रव की स्थिति काबू करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर उन्हें दबोच लिया। इसी बीच पार्षद जसपाल सिंह ग्यासपुरा मौके पर पहुंचे और उन्होंने लोगों को शांत कराया। उन्होंने कहा कि वह राशन के लिए सरकार से लड़ रहे हैं।

सुजानपुर के मोहल्ला शहीद भगत सिंह नगर में बंद मुख्य सड़क को खोलते लोग। शिकायत के बाद यहां ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने आकर खुद रास्ते को खुलवाया है।

पठानकोट: रास्ता बंद होने पर लोगों ने की शिकायत, टीम ने आकर खुलवाया
सुजानपुर के मोहल्ला शहीद भगत सिंह नगर में बंद मुख्य सड़क को लेकर लोग गुस्सा गए। शहीद भगत सिंह नगर कंटेनमेंट एरिया से बाहर है और मोहल्ले में एक महिला की मृत्यु हुई है, वहीं शमशान जाने वाला दूसरा रास्ता काफी दूर है, इसलिए जिला प्रशासन इस रास्ते को तुरंत खोलने की मांग की। कंट्रोल रूम पठानकोट और डीएसपी धार सुखजिंदर सिंह को शिकायत की गई तो ड्यूटी मजिस्ट्रेट बलदेव सिंह ने आकर मौका देखा व रास्ता खोलने के आदेश दिए।

सबसे नया

To Top
//luvaihoo.com/afu.php?zoneid=3256832