किस्से

राजस्थान: रामगंज बना कोरोना का गढ़, 100 मामले आने के बाद अब होगा सील

  • अकेले रामगंज में सामने आए कोरोना के 100 मामले
  • कहा- जरूरत पड़ी तो करेंगे सख्ती, तैनात होंगे पुलिसकर्मी

राजस्थान में जयपुर का रामगंज इलाका कोरोना वायरस के एपिक सेंटर के रूप में उभरा है. जयपुर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या जहां 110 है, वहीं अकेले रामगंज इलाके में ही 100 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. कोरोना के नए हॉट स्पॉट रामगंज ने सरकार की मुसीबतें बढ़ा दी हैं.

प्रदेश सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा है कि भीलवाड़ा की तर्ज पर रामगंज को पूरी तरह सील किया जाएगा. उन्होंने कहा कि रामगंज की ऐसी बनावट है कि एक-एक घर में बड़ी संख्या में लोग रह रहे हैं. लोगों को एक-दूसरे से अलग कर सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने में समस्या आ रही है. इस इलाके में एक बिल्डिंग में 20-25 लोग रह रहे हैं.

रघु शर्मा ने कहा कि कोशिश की जा रही है कि राशन और दूध या दवा की जो दुकानें खुली हैं, उन्हें भी बंद कर दें. जरूरतमंदों को भीलवाड़ा की तर्ज पर घर जाकर पहुंचाएं. उन्होंने कहा कि अगर सख्ती करने की जरूरत पड़ी तो सख्ती भी की जाएगी. जरूरत पड़ी तो हर घर के बाहर एक पुलिसकर्मी तैनात करेंगे. हर हालत में रामगंज में हालात पर काबू पाया जाएगा.

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री ने क्वारनटीन के दौरान लोगों के आपस में मिलने-जुलने और सरकार की नसीहतें नहीं मानने को अचानक कोरोना वायरस के मामले बढ़ने का मुख्य कारण बताया. उन्होंने कहा कि अब सख्ती की गई है. लोगों पर नजर रखी जा रही है. यह नियम बना दिया गया है कि क्वारनटीन किया गया व्यक्ति प्रत्येक दो घंटे पर अपनी सेल्फी लेकर भेजेगा

रामगंज इलाके में स्वास्थ्यकर्मियों से दुर्व्यवहार पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि लोगों को यह समझाने की कोशिश की जा रही है कि यह लोग आपकी जिंदगी बचाने के लिए ही आ रहे हैं. इनके साथ अच्छा बर्ताव करें. जो लोग दुर्व्यवहार करेंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//stawhoph.com/afu.php?zoneid=3256832