क्या चल रहा है?

रमजान से पहले गृह मंत्रालय का राज्यों को आदेश- धार्मिक कार्यक्रमों की न दें इजाजत

  • दुनियाभर में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा एक लाख पार
  • देश को 3 जोन में बांटकर ट्रेन शुरू करने पर विचार कर रही सरकार

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने भारत समेत पूरी दुनिया को जकड़ लिया है. इस जानलेवा वायरस को फैलने से रोकने के लिए मोदी सरकार ने देशव्यापी लॉकडाउन कर रखा है. लोगों के घर से बाहर निकलने और सार्वजनिक स्थान पर इकट्ठा होने पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है. सड़कों से लेकर गलियों तक और स्कूल-कॉलेज से लेकर मॉल तक सब जगह वीरानी छा गई है. धार्मिक स्थलों पर भी ताले लग गए हैं और कार्यक्रमों में इकट्ठा होने पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है.

इस बीच केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को खत लिखकर लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने को कहा है. उन्होंने कहा कि अप्रैल महीने में किसी भी धार्मिक, सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम की इजाजत न दी जाए. साथ ही धार्मिक, सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में लोगों के जमा होने पर पूरी तरह से पाबंदी जारी रखी जाए.

केंद्रीय गृह सचिव का यह निर्देश रमजान शुरू होने से पहले आया है. रमजान के पवित्र महीने में मुस्लिम समुदाय के लोग 30 दिन तक रोजा रखते हैं. केंद्रीय गृह सचिव ने राज्यों के मुख्य सचिवों को लिखे खत में साफ कहा कि अगर कोई लॉकडाउन का उल्लंघन करता है, तो उसके खिलाफ डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट और भारतीय दंड संहिता यानी आईपीसी की धाराओं के तरह कार्रवाई की जाए.

उन्होंने राज्यों को सोशल मीडिया पर निगरानी रखने और अफवाहों पर रोक लगाने के लिए कदम उठाने को भी कहा है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन से किसी भी कीमत पर कोई समझौता न किया जाए. आपको बता दें कि कोरोना वायरस दुनियाभर में कहर बरपा रहा है. इस घातक वायरस से विश्वभर में मरने वालों की संख्या एक लाख से ज्यादा हो चुकी है.

देश को 3 जोन में बांटकर ट्रेन चलाएगी सरकार?

वहीं, इस बीच रेलवे बोर्ड के अधिकारियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की, जिसमें इस बात पर चर्चा की गई कि आखिर 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म होने के बाद क्या किया जाना चाहिए? रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने संकेत दिए कि सरकार देश को तीन जोन यानी रेड जोन, येल्लो जोन और ग्रीन जोन में बांटने पर विचार कर रही है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

इन तीन जोन का निर्धारण इलाके में कोरोना वायरस के मामलों के आधार पर किया जाएगा. रेड जोन में परिवहन सेवाएं पूरी तरह से बंद रहेंगी, जबकि येल्लो जोन में कुछ प्रतिबंधों के साथ ट्रेन चलाई जाएंगी. वहीं, ग्रीन जोन में बिना किसी पाबंदी के ट्रेन सेवाएं चलेंगी. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ख्याल रखा जाएगा. ट्रेन में एसी कोच नहीं होंगे और मिडल बर्थ किसी को अलॉट नहीं किया जाएगा.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832