क्या चल रहा है?

योगी ने कोटा से वापस लौटे स्टूडेंट्स से साधा संवाद, अब मध्य प्रदेश में फंसे 4 हजार श्रमिकों को वापस लाएगी सरकार

  • बीते दिनों राजस्थान के कोटा से योगी सरकार 10 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं को वापस लाई
  • दो दिनों में हरियाणा से 11 हजार से अधिक मजदूर वापस लाए गए
  • मजदूरों को क्वारैंटाइन सेंटर में जबकि छात्रों को घर में एकांत रहने का निर्देश

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार की शाम राजस्थान के कोटा से वापस अपने घर आए छात्र-छात्राओं से वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए संवाद स्थापित किया। योगी ने छात्रों को होम क्वारैंटाइन का पूरी तरह से पालन करने व ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली से तैयारी करने का सुझाव दिया। योगी ने इस दौरान बच्चों से हल्के फुल्के अंदाज में कहा- आप घर अपनों के बीच पहुंच गए, लेकिन हमारा किराया नहीं दिया। यह सुनते ही माहौल हंसी-खुशी में तब्दील हो गया। मुख्यमंत्री ने कहा- आप सभी पढ़ लिखकर जीवन में कुछ कर जाएं, यही हमारा किराया होगा। वहीं, प्रदेश सरकार अब मध्य प्रदेश में फंसे करीब 4 हजार श्रमिकों को यूपी वापस लाएगी।

योगी बोले- सावधानी हटी, दुर्घटना घटी

मुख्यमंत्री योगी ने कहा- ये बिमारी किसी का चेहरा, जाति या धर्म नहीं देखती। सावधानी हटी, दुर्घटना घटी। मैं धन्यवाद देता हूं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को, जिन्होंने 135 करोड़ लोगों की भलाई के लिए समय पर कदम उठाए। देश में मार्च प्रथम सप्ताह में ही अलर्ट जारी हो गया था। इसी के कारण भारत इस महामारी की चपेट में आने से बचा है। जहां भी लापरवाही बरती वहां संक्रमण उतनी ही तेजी से फैला है। 200 से ज्यादा देश वर्तमान में कोरोना संक्रमण की चपेट में हैं। दुनिया की वे ताकतें जो अपने आप को सर्वशक्तिमान मानते थे, उनकी स्थिति आप देख सकते हैं।

अब मध्य प्रदेश से वापस आएंगे मजदूर
कोटा से छात्रों व हरियाणा से श्रमिकों को वापस लाने के बाद अब योगी सरकार मध्य प्रदेश में फंसे मजदूरों को लाएगी। मंगलवार को टीम इलेवन के साथ बैठक के दौरान सीएम योगी ने इस बाबत कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। अनुमान है कि, मध्य प्रदेश में यूपी के 4 हजार मजदूर फंसे हैं। लेकिन उन्हीं को लाया जाएगा, जिन्होंने 14 दिन का क्वारैंटाइन पीरियड पूरा कर लिया और स्वस्थ हैं। योगी ने कहा- सभी राज्यों से संपर्क कर उनके वहां क्वारैंटाइन हुए यूपी के लोगों की सूची मांग लें। जिससे उनकी वापसी की कार्ययोजना बनाई जा सके। उन्होंने हर जिले में क्वारैंटाइन सेंटर्स की क्षमता बढ़ाने का निर्देश दिया है।

पांच जिलों में नोडल अफसर नियुक्त होंगे

सीएम योगी ने केस बढ़ने के बाद हापुड़, रामपुर, वाराणसी, मुजफ्फरनगर, अलीगढ़ में नोडल अफसर नियुक्त करने के निर्देश दिए हैं। यहां एक वरिष्ठ आईएएस अफसर, आईजी स्तर के पुलिस अफसर व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी की तैनाती की जाएगी। इससे पहले योगी सरकार ने 18 जिलों में नोडल अफसर नियुक्त किए थे। सीएम ने कहा- तीन मई के बाद ग्रीन व येलो जोन वाले क्षेत्रों में औद्योगिक गतिविधियों के संचालन की पूरी योजना बना लें। मेडिकल इंफेक्शन रोकना सबसे अहम है। पुलिस कर्मियों को इंफेक्शन से बचाया जाए। इसके लिए उन्हें आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराने के भी निर्देश सीएम ने दिए है।

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832