क्या चल रहा है?

मुर्शिदाबाद में लॉकडाउन की उड़ीं धज्जियां, सैकड़ों लोगों ने इकट्ठा होकर अदा की जुमे की नमाज

  • सोशल डिस्टेंसिंग का भी नहीं रखा गया ध्यान
  • नमाजियों ने मास्क और ग्लव्स भी नहीं पहना

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में भीड़ जुटने की घटना को लेकर मचा बवाल अभी थमा भी नहीं था कि पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में ऐसी ही दूसरी घटना सामने आ गई है. शुक्रवार को मुर्शिदाबाद में सैकड़ों की संख्या में लोग एकजुट हुए और नमाज अदा की. इस दौरान लोगों ने न मास्क पहन रखा था और न ही हाथ में ग्लव्स पहना था. इतना ही नहीं, मुर्शिदाबाद में जुमे की नमाज अदा करने के लिए इकट्ठा हुए लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की भी जमकर धज्जियां उड़ाईं.

पश्चिम बंगाल का मुर्शिदाबाद अल्पसंख्यक बहुल जिला है. यहां की गोपीपुर मस्जिद में जुमे की नमाज अदा करने के लिए शुक्रवार को अल्पसंख्यक समुदाय के लोग काफी संख्या में जमा हुए. जब इसकी जानकारी एक अधिकारी को मिली, तो वो फौरन मौके पर पहुंचे और मस्जिद के इमाम तस्लीम राजा को लॉकडाउन का पालन करने की नसीहत दी.

इसके साथ ही अधिकारी ने इमाम तस्लीम राजा को चेतावनी दी कि अगर अब भविष्य में दोबारा लॉकडाउन का उल्लंघन किया गया, तो सख्त कार्रवाई की जाएगी. इसके बाद इमाम ने मस्जिद से लोगों को हटाया. इससे पहले दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज के जलसे में काफी संख्या में लोगों के जुटने और उनके कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की घटना ने हड़कंप मचा दिया था.

सरकार की पाबंदी के बावजूद तबलीगी जमात के मरकज में लोगों की जमा की गई थी. इसकी जानकारी सामने आने के बाद मरकज से 2300 से ज्यादा जमातियों को निकाला गया था और क्वारनटीन किया था. इसके अलावा कई लोग तबलीगी जमात के मरकज के जलसे में शामिल होकर अपने-अपने ठिकानों को निकल चुके थे.

इस मरकज में कई राज्यों के जमातियों के साथ ही विदेशी नागरिक भी शामिल हुए थे. सरकार इन जमातियों और इनके संपर्क में आने वाले लोगों की लगातार तलाश कर रही है और इनको क्वारनटीन किया जा रहा है. कई जमातियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की वजह से देशभर में कोरोना मरीजों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है.

 

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832