क्या चल रहा है?

मुंबई से लौटा अधेड़ संक्रमित निकला, तीन दिन पहले किया था क्वारैंटाइन

  • 26 अप्रैल को महाराष्ट्र के नासिक से लौटा था घर
  • अब तक प्रयागराज में मिल चुके हैं पांच केस, एक ठीक होकर अस्थाई जेल में

प्रयागराज. शुरूआती दौर में ग्रीन जोन में चल रहे यूपी के प्रयागराज की स्थिति गड़बड़ होती जा रही है। बुधवार को यहां पांचवा कोरोना पाजिटिव मिलने से हडक़ंप मच गया है। इस बार शहर से सटे नैनी के काजीपुर रोड पर स्थित फोर्ट स्कूल एंड कॉलेज में बने क्वारैंटाइन सेंटर में रखे गए एक अधेड़ की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। उसे 27 अप्रैल को यहां लाकर रखा गया था। वह 26 अप्रैल को महाराष्ट्र के नासिक से अपने घर आया था।

66 लोगों के साथ क्वारैंटाइन था संक्रमित

नैनी के काजीपुर रोड स्थित फोर्ट स्कूल एंड कालेज में क्वारैंटाइन सेंटर बनाया गया है। यहां 66 संदिग्धों को 26 अप्रैल को क्वारैंटाइन किया गया था। 28 अप्रैल को सभी का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया था। गुरुवार को वहां के दो दर्जन से ज्यादा लोगों की रिपोर्ट आई। जिसमें नासिक से लौटे कौंधियारा के 55 वर्षीय अधेड़ ग्रामीण की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। आनन-फानन में उसे लेवल वन हास्पिटल कोटवा बनी भेज दिया गया और यहां उसके साथ रह रहे लोगों की जांच प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। डीएम प्रयागराज भानूचंद्र गोस्वामी ने बताया कि नासिक, महाराष्ट्र से आए एक व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वह स्वस्थ है।

पहला पॉजिटिव हो चुका है ठीक

इससे पहले प्रयागराज में एक इंडोनेशियाई नागरिक कोरोना पॉजिटिव मिला था, जो दिल्ली के निजामुद्दीनक मरकज में हुई जमात में शामिल होकर यहां लौटा था। हालांकि वह ठीक हो चुका है और इस समय अपने साथियों के साथ पुलिस हिरासत में है।

छह दिन पहले मिले थे तीन पॉजिटिव
24 अप्रैल को शंकरगढ़ में मुंबई से लौटे दो युवक और शहर के शिवकुटी अंतर्गत शंकरघाट में वाराणसी से आया युवक कोरोना संक्रमित पाया गया था। अभी उन तीनों को लेवल वन हॉस्पिटल कोटवा बनी में आइसोलेट किया गया है।

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832