क्या चल रहा है?

मुंबई में 30 दिन में 100 गुना केस बढ़े; पुणे में भी 18 मई तक लॉकडाउन बढ़ सकता, बंद नर्सिंग होम और हॉस्पिटल पर कार्रवाई होगी

  • शनिवार को 119 मरीज ठीक भी हुए, राज्य में अब तक कुल 1,076 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके
  • कोरोना से सबसे ज्यादा चिंताजनक हालात मुंबई में हैं, यहां संक्रमण से 191 लोगों की मौत हो चुकी
  • बीते 24 घंटे में शहर में 13 मरीजों की जान गई, मुंबई में कुल मरीजों की संख्या 4,447 हो गई

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। लॉकडाउन के एक महीने के भीतर मुंबई में कोरोना संक्रमितों की संख्या 100 गुना से अधिक बढ़ी है। यहां 25 मार्च को कोरोना मरीजों की संख्या सिर्फ 43 थी, जबकि 2 लोगों की मौत हुई थी। एक महीने बाद यहां कोरोना पॉजिटिव की संख्या 4,589 हो गई, जबकि मौतों की संख्या 179 तक जा पहुंची। देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने की यह सबसे तेज रफ्तार है।

लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए मुंबई मेट्रोपोलिटन रीजन और पुणे संभाग में लॉकडाउन 18 मई तक बढ़ाया जा सकता है। इसके संकेत राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे की तरफ से दिए गए हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने निजी मत के तौर पर कहा- ‘कोरोना का संक्रमण बढ़ने से रोकने के लिए लॉकडाउन किया गया है। यदि कोरोना संक्रमितों की संख्या नहीं घटी तो लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा कोई चारा नहीं है। जरूरत पड़ी तो 3 मई के बाद मुंबई-पुणे के कंटेनमेंट जोन में 15 दिन का और लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा। हमने सरकार से मांग की है कि 18 मई तक लॉकडाउन जारी रखा जाए। 3 मई के बाद भी मुंबई और पुणे के हॉटस्पाट परिसर में गैर महत्वपूर्ण सेवाएं शुरू नहीं की जाएं।’

मुंबई के एक कंटेनमेंट जोन को सैनिटाइज करते दमकल विभाग के कर्मचारी। शहर में अब तक 4 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं।बंद प्राइवेट नर्सिंग होम और हॉस्पिटल पर होगी कार्रवाई
बीएमसी कमिश्नर प्रवीण परदेशी ने मुंबई में कोरोना संक्रमण को देखते हुए नर्सिंग होम और प्राइवेट हॉस्पिटल बंद रखने वालों को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा है कि ‘यदि बार-बार निर्देश के बावजूद ये नर्सिंग होम आम मरीजों के लिए नहीं खोले जाते हैं, तो उनके लाइसेंस रद्द कर दिए जाएं। अगर प्राइवेट हॉस्पिटल के डॉक्टर्स काम पर न आएं तो उनके खिलाफ संसर्ग रोग नियंत्रण कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।’

मुंबई में प्लाज्मा थैरेपी की तैयारी शुरू की 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की अनुमति के बाद बीएमसी ने मुंबई में प्लाज्मा थैरेपी की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों की काउंसिलिंग शुरू कर दी गई है। डॉक्टर्स उन्हें समझा रहे हैं कि जैसे उन्होंने कोरोना से जंग जीती, वैसे ही वे अपना प्लाज्मा देकर दूसरों को भी कोराेनामुक्त कर सकते हैं। मुंबई में अब तक 595 लोग कोरोना से स्वस्थ होकर घर भेजे जा चुके हैं।

कोरोना अपडेट्स 

  • पुणे जिले में शनिवार को कोरोना के 90 और मामले सामने आए। 5 लोगों की मौत हो गई। शहर में कुल 1184 संक्रमित हो गए। जबकि 73 लोगों की मौत हो चुकी। संयुक्त पुलिस आयुक्त रवींद्र शिस्वे ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा लॉकडाउन में ढील दिए जाने के आदेश पुणे में लागू नहीं होंगे। कहा- केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि ढील दिए जाने के आदेश कोरोना से प्रभावित क्षेत्रों पर लागू नहीं होंगे।
  • नागपुर में शनिवार को कोरोना के 19 नए मामले सामने आए। शहर में कुल 123 संक्रमित हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि सभी 19 लोग क्वारैंटाइन पीरियड में थे।
  • मुंबई के सबसे बड़े स्लम धारावी में कोरोनावायरस का कहर जारी है। पिछले 24 घंटे में यहां 21 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। यहां संक्रमितों का आंकड़ा 241 हो गया है। धारावी में कोरोनावायरस के संक्रमण से अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है।
  • महाराष्ट्र में लॉकडाउन की अवधि के दौरान शनिवार तक कुल 96 पुलिसकर्मी कोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए। इनमें 15 पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं। वहीं, मुंबई में पिछले 48 घंटे में 23 कोरोना मरीजों ने दम तोड़ा। 57 साल के पुलिस के हवलदार की भी जान गई। महाराष्ट्र में कोरोना से किसी पुलिसकर्मी की मौत का यह पहला मामला है। हवलदार पश्चिमी उपनगर में वाकोला पुलिस स्टेशन में कार्यरत थे। दक्षिण मुंबई के वर्ली नाका इलाके में रहते थे।

महाराष्ट्र भाजपा ने शुरू की कोविड-19 हेल्पलाइन

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भारतीय जनता पार्टी की कोविड-19 हेल्पलाइन की शुरुआत की। इस हेल्पलाइन से लोगों को महानगरपालिका द्वारा नामित कोविड डॉक्टर, क्वारैंटाइन सेंटर, कोविड के लिए आरक्षित हॉस्पिटल, नॉन कोविड हॉस्पिटल, नॉन कोविड जनरल क्लिनिक, पुलिस स्टेशन, राशन शॉप, मंत्रालय कंट्रोल रूम, वार्ड कंट्रेल रूम, हेल्थ ऑफिसर और एंबुलेंस से संबंधित सहायता, सुविधा और सेवाओं के बारे में आवश्यक जानकारी मिलेगी।

महाराष्ट्र के रत्नागिरी में एक बच्चा कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर वापस घर गया। उसे विदाई देने के लिए हॉस्पिटल का पूरा स्टाफ फूल लेकर पहुंचा था।

राज्य में 148 पुलिसवालों पर हमला, 69374 एफआईआर
महाराष्ट्र साइबर विभाग के अनुसार, राज्य में 148 पुलिसकर्मियों पर हमला हुआ है। पुलिस ने 477 लोगों को विभिन्न जिलों से गिरफ्तार किया। इनमें मुंबई पुलिस का आंकड़ा शामिल नहीं है, जबकि पालघर जिले में पुलिसकर्मियों पर हमले के 7 मामलों में 135 लोग गिरफ्तार किए गए। लॉकडाउन अवधि में अब तक राज्य में 69374 केस दर्ज किए गए। राज्य में लॉकडाउन के दौरान पुलिस हेल्पलाइन नंबर 100 पर अब तक 77,670 कॉल मिल चुके हैं। इनमें मुंबई से 20563, नवी मुंबई से 2151, ठाणे से 2992, पुणे से 7038, रायगढ़ से 1063 और पालघर जिले से मात्र 10 कॉल शामिल हैं। वहीं, क्वारैंटाइन सेंटर से भागे 602 लोगों को पुलिस ने पकड़कर फिर से क्वारैंटाइन सेंटरों में भेज दिया।

अमरावती में पुलिस मुख्यालय पर काम शुरू करने से पहले सभी कर्मचारी हर दिन योग करते हैं। शनिवार को इस कार्यक्रम में बाल कल्याण मंत्री यशोमती ठाकुर भी शामिल हुईं।

देश के आधे मरीज महाराष्ट्र से सामने आए

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर थमता नहीं दिख रहा है। शनिवार को देशभर में मिले 1,819 नए मरीजों में से करीब आधे यानी 811 नए मरीज अकेले महाराष्ट्र से हैं। इसी के साथ राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 7,628 तक पहुंच गया। यहां वायरस से 323 लोगाें की मौत हो चुकी है। बीते 24 घंटे में कोरोना से 22 मरीजों की मौत हुई। शनिवार को 119 मरीज ठीक भी हुए हैं और राज्य में अब तक कुल 1,076 मरीज पूरी तरह ठीक होकर घर जा चुके हैं। कोरोना से सबसे ज्यादा चिंताजनक हालात मुंबई में हैं। यहां इस वायरस से 191 लोगों की मौत हो चुकी है। बीते 24 घंटे में शहर में 13 मरीजों की जान गई है। मुंबई में कुल मरीजों की संख्या 4,447 हो गई है।

सबसे नया

To Top
//luvaihoo.com/afu.php?zoneid=3256832