क्या चल रहा है?

मुंबई का भाटिया अस्पताल बना कोरोना केंद्र, स्टाफ के 11 नए पॉजिटिव केस

  • मुंबई के भाटिया अस्पताल में नए कोरोना केस
  • अस्पताल के 11 लोगों के सैंपल पॉजिटिव
  • अब तक कुल 25 स्टाफ पॉजिटिव

भारत में कोरोना वायरस की स्पीड बढ़ने के साथ ही आम लोगों के अलावा डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ के दूसरे लोग भी इसकी चपेट में आने लगे हैं. मुंबई का भाटिया अस्पताल इसका केंद्र बनता जा रहा है, जहां मेडिकल स्टाफ से जुड़े 11 नए कोरोना पॉजिटिव केस आए हैं.

ये नए मामले सामने के बाद भाटिया अस्पताल के मेडिकल स्टाफ से जुड़े कुल पॉजिटिव केसों की संख्या 25 पहुंच गई है. रविवार को इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई.

भाटिया अस्पताल मुंबई के टार्डियो इलाके में है. पूरे महाराष्ट्र की तरह यहां भी कोरोना का व्यापक असर दिखाई दे रहा है. बीते शुक्रवार को यहां के 14 मेडिकल स्टाफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. इस खबर के बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया और हर कोरोना पॉजिटिव स्टाफ के संपर्क में आने वाले हर संभावित स्टाफ के कोरोना टेस्ट कराने का प्रयास किया गया.

इस कड़ी में अस्पताल में के 150 स्टाफ के सैंपल टेस्ट के लिए भेजे गए. रविवार को इन सैंपल्स की रिपोर्ट अस्पताल के लिए एक और बुरी खबर लेकर आई और 11 सैंपल पॉजिटिव पाए गए. यानी अस्पताल के कुल 25 स्टाफ कोरोना पॉजिटिव हो गए, जिससे खतरा और बढ़ गया है.

अस्पताल तक कैसे पहुंचा कोरोना?

दरअसल, भाटिया अस्पताल में चार मरीज पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. इसके बाद ही भाटिया अस्तपाल में कोरोना का प्रसार हो गया. पिछले हफ्ते ही भाटिया अस्पताल की तरफ से बयान दिया गया था कि कुछ इमरजेंसी मरीज यहां भर्ती हुए थे. तीन मरीजों के सैंपल कस्तूरबा अस्पताल भेजे गए थे, जो कोविड-19 पॉजिटिव निकले. अस्पताल ने बताया था कि भर्ती के वक्त ही संदिग्ध मरीजों को एहतियात बरतते हुए आईसीयू में भर्ती किया गया था. इस तरह भाटिया अस्पताल में कोरोना वायरस की घुसपैठ हो गई और अब तक यहां के 25 स्टाफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

बता दें कि महाराष्ट्र में देश में सबसे ज्यादा कोरोना मरीज पाए गए हैं और यहां मरने वालों का आंकड़ा भी देश में सबसे ज्यादा है. महाराष्ट्र में भी सबसे ज्यादा प्रभावित मुंबई है. यही वजह है कि यहां के अस्पतालों में काम करने वाले स्टाफ भी कोरोना के केंद्र बनते जा रहे हैं. भाटिया अस्पताल के अलावा वॉकहार्ट अस्तपाल में कोरोना के 52 केस सामने आ चुके हैं.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832