क्या चल रहा है?

महाराष्ट्र के बाद बंगाल में भी बढ़ा लॉकडाउन, 10 जून तक शैक्षणिक संस्थान बंद

  • महाराष्ट्र के बाद पश्चिम बंगाल में भी लॉकडाउन की अवधि बढ़ी
  • सीएम ममता ने पीएम मोदी के साथ बैठक के बाद किया ऐलान

देशभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है. लगभग सभी राज्यों में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. इसे देखते हुए पहले महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाने की घोषणा की. बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई है. वहीं, अब महाराष्ट्र के बाद पश्चिम बंगाल ने भी लॉकडाउन को 30 अप्रलै तक बढ़ाए जाने का ऐलान कर दिया है. साथ ही बंगाल में सभी शैक्षणिक संस्थान को 10 जून तक बंद रखने का ऐलान किया गया है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएम के साथ हुई बैठक के बाद इस बात की घोषणा की. उन्होंने कहा कि राज्य में लॉकडाउन 30 अप्रैल तक जारी रहेगा और सभी शैक्षणिक संस्थान 10 जून तक बंद रहेंगे. इसके अलावा मुख्यमंत्री ममता ने लोगों से धार्मिक परंपराएं घरों में ही करने की अपील भी की है.

वहीं, पीएम मोदी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि केंद्र सरकार लॉकडाउन की वजह से पैदा हुए आर्थिक संकट से राज्यों को उबारने के लिए वित्तीय पैकेज दे.

सीएम ममता बनर्जी ने पीएम मोदी से कहा, लॉकडाउन की वजह से राज्यों की जीडीपी गिरी है. इसकी भरपाई के लिए जरूरी है कि केंद्र सभी राज्यों को वित्तीय मदद दे, ताकि राज्य पूरी क्षमता के साथ कोरोना वायरस से लड़ सके.

गौरतलब है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने आज कोरोना पर कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. इस बैठक में कोरोना वायरस से पैदा हुए हालात और लॉकडाउन को और बढ़ाने पर चर्चा हुई.

प्रधानमंत्री की बैठक में 11 में से 10 मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव दिया. दिल्ली, यूपी, पंजाब, राजस्थान, और ओडिशा के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन खुलकर बढ़ाने की वकालत की. ओडिशा और पंजाब ने पहले ही लॉकडाउन आगे बढ़ाने का ऐलान कर दिया है.

 

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832