क्या चल रहा है?

मंत्री सिद्धार्थनाथ ने प्रियंका-अखिलेश पर साधा निशाना, कहा- नकारात्मक बयानबाजी करने के बजाय महामारी से लड़ने में जुटें

  • सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ ने कहा- प्रिंयका को कांग्रेस शासित मुख्यमंत्रियों से बात करनी चाहिए
  • पूर्व सीएम अखिलेश और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उप्र में कम जांचों को लेकर सवाल उठा चुके हैं

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस का संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है। यहां पॉजीटिव मरीजों का आंकड़ा 2 हजार के करीब पहुंच गया है। इस बीच सरकार के कैबिनट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि सरकार की नीति स्पष्ट है, जिसकी बदौलत कोरोना महामारी से भारत जीतेगा। ‘भारत को बचाना है’ की नीति के साथ प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री काम कर रहे हैं, लेकिन विपक्षी राजनीतिक दलों के नेता प्रियंका गांधी और अखिलेश नकारात्मक बयानबाजी कर सियासी रोटियां सेंकने की कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि दूसरों को नसीहत देने के बजाय प्रियंका गांधी को कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करनी चाहिए। वे लॉकडाउन आगे बढ़ाने या न बढ़ाने को लेकर राहुल गांधी और सोनिया गांधी तक से तो बात नहीं करतीं। जब आपस में ही खटपट है, फिर दूसरों को नसीहत क्यों दे रही हैं। अखिलेश यादव को लेकर सिद्धार्थनाथ ने कहा कि सपा प्रमुख ने एक दिन भी सकारात्मक सुझाव नहीं दिया। उन्होंने हमेशा नकारात्मक बयानबाजी कर राजनीतिक स्वार्थहित साधने का प्रयास किया।

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीट कर सरकार पर साधा था निशाना
अखिलेश यादव ने लिखा है, “कोरोना संक्रमण के दौरान ड्यूटी में लगे हर स्टाफ को तत्काल पीपीई किट दिए जाएं, जिनका लोगों से ज्यादा संपर्क होता है। स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस, आपूर्ति सेवा में लगे ड्राइवर और राशन डीलर, इनकी नियमित जांच होनी चाहिए।’ इससे पहले अखिलेश ने कहा था, “कोरोना संक्रमण झेल रहे प्रदेश के किसानों पर बे-मौसम बरसात, आंधी और ओलावृष्टि की भी प्राकृतिक मार भी पड़ी है। उसका जीवन घोर संकट में पड़ गया है। आजीविका के सभी रास्ते बंद होते दिख रहे हैं। जिलों के अधिकारी भी किसानों के प्रति उपेक्षापूर्ण रवैया अपनाये हुए हैं। गेहूं और आम की फसल की हुई बर्बादी का सरकार के पास कोई ब्यौरा नहीं है।’

प्रियंका गांधी भी कम जांच को लेकर उठा चुकी हैं सवाल

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार से अनुरोध किया है कि वह समय रहते टेस्टिंग पर ध्यान दे और इसमें पारदर्शिता बरते। उन्होंने कहा, मैं टेस्टिंग की बात पहले ही उठा चुकी हूं। कोरोना को यदि रोकना है तो बड़े पैमाने पर जांच होना बहुत जरूरी है। प्रियंका ने रविवार को लगातार दो ट्वीट किए। उन्होंने लिखा है कि आगरा शहर में हालात खराब हैं और रोज नए मरीज निकल रहे हैं। आगरा के मेयर का कहना है कि अगर सही प्रबंध नहीं हुआ तो मामला हाथ से निकल जाएगा। कल भी मैंने इसी चीज को उठाया था। पारदर्शिता बहुत जरूरी है। टेस्टिंग पर ध्यान देना जरूरी है।

सबसे नया

To Top
//whugesto.net/afu.php?zoneid=3256832