क्या चल रहा है?

बीजेपी विधायक ने उठाई मशाल, न सोशल डिस्टेंसिंग-न पीएम मोदी की अपील का रखा ख्याल

  • बीजेपी विधायक समर्थकों के साथ सड़क पर उतरे
  • मशाल जलाकर किया पीएम की अपील का समर्थन
  • नहीं रखा सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान

देश में संपूर्ण लॉकडाउन है और सभी देशवासियों ने रविवार रात 9 बजे 9 मिनट तक दीये, मोमबत्ती जलाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर अमल किया. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख्याल रखा गया. लेकिन एक-दो तस्वीरें ऐसी सामने आईं जिन्होंने पीएम मोदी की नसीहत के साथ ही कोरोना वायरस के खतरे को भी ताक पर रख दिया.

5 अप्रैल की रात 9 बजते ही जहां पीएम मोदी से लेकर तमाम मंत्री और पूरा देश अपने-अपने घरों में दीये और मोमबत्तियां जला रहा था उसी वक्त तेलंगाना के बीजेपी विधायक राजा सिंह अपने समर्थकों के साथ हाथों में मशाल लेकर सड़कों पर उतर गए.

राजा सिंह ने अपने समर्थकों के साथ मशाल जुलूस निकाला और गो बैक चीनी वायरस के नारे भी लगाए. लेकिन इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी की उस नसीहत की ही धज्जियां उड़ी दीं, जिसमें पीएम ने कहा था कि लोग दीया और कैंडल जलाएं लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें.

देश की जनता ने तो पीएम की अपील का पालन किया, लेकिन विधायक राजा सिंह पर पीएम मोदी की अपील का असर नजर नहीं आया. राजा सिंह न सिर्फ समर्थकों की भीड़ लेकर सड़क पर उतर गए, बल्कि कोरोना के खिलाफ उनकी इस पहले में सोशल डिस्टेंसिंग का नामो-निशान भी नजर नहीं आया.

तेलंगाना के अलावा बीजेपी विधायक से जुड़ी एक घटना महाराष्ट्र के वर्धा से सामने आई. यहां बीजेपी विधायक दादाराव केचे के आवास पर भारी भीड़ नजर आई. दरअसल, दादाराव केचे का जन्मदिन था, जिस अवसर पर उन्होंने लॉकडाउन के दौरान परेशान लोगों को राशन बांटने का फैसला लिया. लेकिन जब उनके आवास पर जरूरतमंद लोग पहुंचे तो तस्वीर भयावह नजर आई.

विधायक के आवास पर बड़ी तादाद में पुरुष और महिला राशन लेने के लिए पहुंचे. यानी एक तरफ जहां पूरा देश सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहा है और कोरोना से बचाव के ये सबसे अहम तरीका बताया जा रहा है, वहीं राशन बांटने के नाम पर बीजेपी विधायक के घर ये नियम पूरी तरह टूटता दिखाई दिया.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832