क्या चल रहा है?

बिहार के ग्रामीण क्षेत्र में 18 लाख से अधिक परिवार को मिलेगा रोजगार

  • मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत 19406 आवासों के निर्माण का लक्ष्य
  • प्रधानमंत्री आवास योजना एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना से बनेंगे 23.73 घर

पटना. बिहार सरकार का प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई-ग्रामीण) एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत 23.73 आवास निर्माण से चालू वित्त वर्ष के दौरान 18 लाख से अधिक परिवार को रोजगार देने का लक्ष्य है।

ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने गुरुवार को बताया कि वित्त वर्ष 2016-17 से आरंभ पीएमएवाई (ग्रामीण) के तहत अब तक वित्त वर्ष 2020-21 सहित 32 लाख 77 हजार 865 आवासों का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। राज्य प्रायोजित मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत 19406 आवासों के निर्माण का लक्ष्य है। इस तरह 32 लाख 97 हजार 271 आवासों के निर्माण का लक्ष्य था, जिनमें से पीएमएवाई (ग्रामीण) के 946609 आवास का निर्माण पूर्ण हो चुका है। शेष 23 लाख 73 हजार से अधिक लाभुकों के आवास निर्माण में वित्त वर्ष 2020-21 में ग्रामीण परिवारों को 17 करोड़ 32 लाख से अधिक मानव दिवस का रोजगार सृजन होगा, जिससे 18 लाख से अधिक परिवार को रोजगार दिया जा सकेगा।

श्रवण कुमार ने बताया कि इस वर्ष प्राप्त लगभग 10 लाख से अधिक आवास के लक्ष्य को छोड़ दिया जाय तो इससे पूर्व प्राप्त 22 लाख 50 हजार से अधिक के विरुद्ध 19 लाख 12 हजार परिवारों को प्रथम किस्त की सहायता राशि दी जा चुकी है। इस वर्ष प्राप्त लक्ष्य के विरुद्ध निबंधन, स्वीकृति एवं सहायता राशि के तहत की जाने वाली कार्रवाई प्रक्रियाधीन है।

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832