क्या चल रहा है?

बांग्लादेश में पकड़ा गया फर्जी सैनिटाइजर, भारत में सांप्रदायिक रंग देकर तस्वीरें वायरल

ऐसे समय में जब भारत कोरोना वायरस महामारी के दौरान फेस मास्क और हैंड सैनिटाइजर की कमी का सामना कर रहा है, सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक रंग देकर “नकली सैनिटाइटर” की तस्वीरें वायरल हो रही हैं.

सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें एक साथ वायरल हैं जिनमें दो आदमी, दो सुरक्षा बल के जवान, कुछ बोतलें, बाल्टी, ड्रम दिख रहे हैं. बाल्टी और ड्रम में कुछ लिक्विड पदार्थ भरा हुआ है. सोशल मीडिया यूजर्स का दावा है कि ये तस्वीरें भारत की हैं और “मुस्लिम” नकली सामान का व्यवसाय कर रहे हैं.

वायरल पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि पोस्ट में किया जा रहा दावा गलत है. ये तस्वीरें भारत की नहीं हैं, बल्कि बांग्लादेश की हैं, जहां नारायणगंज में पुलिस ने हाल ही में भारी मात्रा में नकली हैंड सैनिटाइजर जब्त किया था.

ये तस्वीरें इसी दावे के साथ फेबसुक और ट्विटर पर वायरल हैं.

pic-1_040920041100.png

pic-2_040920041122.png

AFWA की पड़ताल

एक तस्वीर में देखा जा सकता है कि काले ड्रेस में एक सुरक्षा जवान है जिसकी जैकेट पर “RAB” लिखा हुआ है. RAB बांग्लादेश पुलिस की रैपिड एक्शन बटालियन है जो अपराध और आतंकवाद विरोधी इकाई है. इससे प्रथमदृष्टया ही वायरल पोस्ट को लेकर संदेह पैदा होता है.

बांग्ला में कीवर्ड्स सर्च की मदद से हमें कई बांग्लादेशी वेबसाइट मिलीं, जहां इससे संबंधित खबरें छपी हैं. खबर के मुताबिक, बांग्लादेश की RAB ने नारायणगंज से भारी मात्रा में फर्जी हैंड सैनिटाइजर बरामद किया था.

इस सूत्र के मुताबिक, हमने इस घटना के बारे में फेसबुक पर बांग्ला लिखी गईं पोस्ट के लिए सर्च किया. “Sohel Deb” नाम के यूजर ने फेसबुक पेज “POLICE HOUR ” पर नारायणगंज में हुई जब्ती के बारे में एक खबर पोस्ट की है.

उन्होंने कई तस्वीरें पोस्ट की हैं उनमें वही व्यक्ति उसी जगह पर बैठा देखा जा सकता है जो वायरल तस्वीर में मौजूद है.

वायरल तस्वीर

pic-3_040920041257.png

फेसबुक पोस्ट

capture_040920041939.jpg

बांग्लादेश के कई अन्य फेसबुक यूजर्स ने भी इस घटना के बारे में फेसबुक पर पोस्ट किया है और वही तस्वीरें इस्तेमाल की हैं.

बांग्लादेश की न्यूज रिपोर्ट्स के मुताबिक, रैपिड एक्शन बटालियन ने 3 अप्रैल, 2020 को नारायणगंज की एक फैक्ट्री पर छापा मारा था और नकली सैनिटाइजर की सैकड़ों बोतलें जब्त की थीं जिन्हें कोरोनो वायरस संकट के दौरान बाजार में बेचा जा रहा था. कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया था.

भारत के हैदराबाद और दिल्ली से सटे मानेसर में भी एक फर्जी सैनिटाइजर बनाने वाले रैकेट का पर्दाफाश हुआ है. लेकिन ये जो तस्वीरें भारत में सांप्रदायिक रंग देकर वायरल हो रही हैं, ये भारत की नहीं, बल्कि बांग्लादेश की हैं.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832