क्या चल रहा है?

पुलवामा में सुरक्षाबलों ने 3 आतंकियों को मार गिराया, अप्रैल महीने में यह दहशतगर्दों के साथ छठवीं मुठभेड़

  • जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि शुक्रवार देर शाम को आतंकियों के अवंतीपोरा इलाके में होने के इनपुट्स मिले थे
  • तीन में स्थानीय हार्डकोर आतंकवादी भी शामिल, सुरक्षाबलों को आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार मिले

श्रीनगर. सुरक्षाबलों ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतीपोरा के गोरीपारा इलाके में शनिवार सुबह तीन आतंकवादियों को गिराया। इनमें एक स्थानीय हार्डकोर आतंकवादी भी शामिल है। हालांकि, अभी इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है। इस तरह, जवानों की अप्रैल महीने में दशहतगर्तों के साथ यह छठवी मुठभेड़ थी। अब तक 20 आतंकी मारे जा चुके हैं।

पुलिस ने बताया कि गोरीपारा में आतंकवादियों के छिपने होने की खबर मिली थी। सुरक्षाबलों देर रात ही पूरे इलाके को घेर लिया। इनसे सरेंडर करने के लिए कहा गया, लेकिन आतंकवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्यवाही में तीन आतंकवादी मारे गए। इनके पास से भारी मात्रा में गोला बारूद मिला।

इस महीने में 4 अप्रैल को हुआ था पहला एनकाउंटर 

25 अप्रैल: अवंतीपोरा के गोरीपारा इलाके में तीन आतंकी मारे गए।

22 अप्रैल: शोपियां में चार आतंकवादियों को मार गिराया।
17 अप्रैल : राज्य में दो अलग-अलग जगहों पर मुठभेड़ हुई, इसमें चार आतंकी मार गिराए गए थे।
11 अप्रैल:  कुलगाम जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी, इसमें आतंकी हथियार छोड़कर भाग गए थे।
7 अप्रैल: सेना ने आमने-सामने की लड़ाई में 5 आतंकी मार गिराए थे। यह कश्मीर में साल का सबसे मुश्किल ऑपरेशन था। इसमें सर्जिकल स्ट्राइक कर चुकी पैरा यूनिट के 5 जवान शहीद हो गए थे।
4 अप्रैल: कुलगाम में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में हिजबुल के 4 आतंकियों को मार गिराया।

मार्च में एक एनकाउंटर हुआ था, चार आतंकी मारे गए थे 

15 मार्च: अवंतीपोरा जिले के वटरीग्राम में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया।
22 फरवरी: दक्षिण कश्मीर के संगम बिजबेहरा में जवानों और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। दो आतंकी मारे गए।
19 फरवरी: पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर के दौरान 3 आतंकियों को ढेर किया।
5 फरवरी: श्रीनगर के पास मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे, एक सीआरपीएफ जवान शहीद हुआ था। बाइक पर आए 3 आतंकियों ने सीआरपीएफ चैकपोस्ट पर फायरिंग की थी।
31 जनवरी: जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर ट्रक में छिपे 4-5 आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया था। ट्रक को नगरोटा के टोल प्लाजा पर चैकिंग के लिए रोका गया था। इसके बाद सुरक्षाबलों ने घेराबंदी कर इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। मुठभेड़ के दौरान 3 आतंकी मारे गए, जबकि एक पुलिस जवान जख्मी हो गया। ट्रक का ड्राइवर पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकी आदिल डार का चचेरा भाई है और वही आतंकियों का मुख्य हैंडलर था।
25 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें 2 पाकिस्तानी आतंकी कारी यासिर और बुरहान शेख मारे गए थे। यासिर जैश-ए-मोहम्मद का कश्मीर एरिया कमांडर था।
21 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतिपोरा में मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे। सेना का एक जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस का एसपीओ शहीद हुए थे।
20 जनवरी: शोपियां जिले में मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के 3 आतंकी मारे गए थे।

सबसे नया

To Top
//whugesto.net/afu.php?zoneid=3256832