क्या चल रहा है?

नोए़डा: लॉकडाउन में छत पर पढ़ी नमाज, 1 गिरफ्तार, बाकी की तलाश में पुलिस

  • नमाज का वीडियो वायरल होने के बाद हुई कार्रवाई
  • नमाज का मुख्य आयोजक गिरफ्तार, बाकी की तलाश

नोएडा में एक छत पर नमाज पढ़ने को लेकर कुछ लोगों पर केस दर्ज किया गया है. ये लोग समूह में छत पर नमाज पढ़ रहे थे जबकि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए भीड़ जुटाने पर मनाही है. लॉकडाउन के निर्देशों का पालन नहीं करने के कारण इस समूह के एक सदस्य को गिरफ्तार भी किया गया है. नोएडा के पुलिस कमिश्नर ने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन कर छत पर नमाज के लिए एकत्रित होने पर थाना सेक्टर-20 नोएडा में मुकदमा किया गया है और नमाज के मुख्य आयोजक सालिक को गिरफ्तार किया गया है.

आरोपी सालिक के खिलाफ राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 और उत्तर प्रदेश महामारी बीमारी अधिनियम, 1897 के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई है. बुधवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें छत पर लोगों को नमाज अदा करते हुए देखा गया. पुलिस के मुताबिक, वीडियो देखने के बाद कार्रवाई की गई है. इस घटना को इसलिए भी गंभीर माना जा रहा है क्योंकि दिल्ली के तबलीगी मरकज में लोगों के जुटने के कारण कोरोना महामारी का खतरा काफी बढ़ गया है. मरकज में 2 हजार से ज्यादा लोग शामिल थे. दिल्ली पुलिस ने बुधवार सुबह मरकज को खाली कराया और शामिल लोगों को क्वारनटीन में भेजा. इनमें 53 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

पुलिस के मुताबिक, वीडियो में देखा जा सकता है कि नोएडा में एक छत पर 10-12 लोग इकट्ठा हुए और नमाज अदा की. वीडियो सामने आने के तुरंत बाद इस पर जांच बिठाई गई जिसमें पता चला कि सेक्टर 16 की जेजे (झुग्गी-झोपड़ी) कॉलोनी में सादिक नाम के शख्स ने लोगों को जुटाया और सबने नमाज पढ़ी. यह इलाका सेक्टर 20 थाने में पड़ता है. नोएडा के डिप्टी कमिश्नर संकल्प शर्मा ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा कि जिसने लोगों को जुटाया, उस मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा, मौजूदा समय में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए गौतमबुद्ध नगर में भी सीआरपीसी की धारा 144 (4 या उससे ज्यादा लोगों के जुटने पर पाबंदी) लागू है. सरकार, प्रशासन और मीडिया की ओर से लगातार अपील की जा रही है कि जब तक बहुत जरूरी न हो, लोग घरों से बाहर न निकलें. इन सख्त व जरूरी निर्देशों के बावजूद नमाज के लिए अवैध ढंग से लोगों को इकट्ठा किया गया. उनकी इस हरकत से कोरोना वायरस फैलने का खतरा और बढ़ सकता है. पुलिस के मुताबिक, जिन लोगों ने नमाज में शिरकत की, उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 188 (आदेश की अवहेलना), 269 (प्राणघातक बीमारी का संक्रमण फैलाना) और 270 के तहत कोतवाली 20 में मुकदमा दर्ज कराया गया है.

एफआईआर में सालिक, सादिक, गुड्डू, मोहम्मद जहांगीर, नूर हसन, शमशेर, अफरोज, फिरोज, राजी आलम, तबरुक, छोटू के नाम शामिल हैं. इन सबकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं. बता दें, नोएडा में कोरोना वायरस तेजी से पांव फैला रहा है. कुछ ही दिनों में तेजी से मामले सामने आए हैं. पूरे उत्तर प्रदेश में नोएडा में सबसे ज्यादा पॉजिटिव केस पाए गए हैं. यूपी सरकार ने इसे लेकर काफी सख्ती बरती है और पहले नोएडा के जिलाधिकारी का तबादला किया गया, उसके बाद सीएमओ का भी ट्रांसफर कर दिया

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832