क्या चल रहा है?

नईम और सज्जाद काेराेना संदिग्ध, पीपीई किट पहनकर डीएमसीएच ले गई पुलिस

  • दिल्ली से एंबुंलेंस से आया था माे. नईम, डीएमसीएच से भागा था माे. सज्जाद

दरभंगा. नगर थाना के जेपी चौक मिस्कार टोली में कोरोना वायरस के दो संदिग्ध पाए जाने के बाद लोगों में दहशत है। डीएमसीएच से भागकर मोहल्ले में 2 दिन से रह रहे रिक्शा चालक मो. सज्जाद की खोज में नगर थाना और जनप्रतिनिधि के पति नवीन सिन्हा आदि ने पहुंचकर मो. सज्जाद को एंबुलेंस से नगर थाना के इंस्पेक्टर इंचार्ज सत्य प्रकाश झा के नेतृत्व में डीएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में रविवार की शाम भर्ती कराया। बताया जा रहा है कि दिल्ली से एम्बुलेंस से 2 दिन पहले मो. नईम उर्फ पप्पू दरभंगा पहुंचा था और अपने परिवार को सिमरी के शोभन के पास उतारने के बाद अपने मोहल्ले के रिक्शा चालक के साथ शहर में घूम कर मोहल्ला पहुंचा था।
अगले दिन रिक्शा चालक मास्क वितरण के लिए मोहल्ले के एक व्यक्ति के साथ भैरोपट्टी भी गया था। इस सूचना के बाद जांच टीम भैरोपट्टी के लिए भी निकली है। वहीं, मो. नईम उर्फ पप्पू डीएमसीएच में भर्ती है। उसकी जांच रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। घटनाक्रम को लेकर लोगों में भय का माहौल बना है अाैर लोग आक्रोशित भी हैं। काेराेना संदिग्ध के मोहल्ले की निगरानी के लिए माेहल्ले काे सील करने की भी चर्चा है। शांति समिति के सदस्य और नगर थाना के इंस्पेक्टर इंचार्ज एवं उनकी टीम ने 15-15 जगहों को चिह्नित किया है। जैसे ही रिपोर्ट आएगी उसके बाद अागे की प्रक्रिया की जाएगी। वहीं, रिक्शा वाले के रिक्शा को सड़क पर लाकर लावारिस छोड़ दिया गया है।

लाेगों को है नईम और सज्जाद की जांच रिपोर्ट का इंतजार, मोहल्ले के लोगों में डर 
यदि रिपोर्ट पॉजिटिव आता है तो मोहल्ले वाले को स्कूल में शिफ्ट करने के लिए भी चिह्नित किया जा रहा है। पुलिस-प्रशासन और आस-पास के लोग उसकी जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। तत्काल वार्ड पार्षद के प्रतिनिधि की ओर से मोहल्ले को सेनेटाइज करने की बात कही गई है।
अब तक नहीं आई है जांच रिपोर्ट : अधीक्षक
डीएमसीएच अधीक्षक डॉ. राज रंजन प्रसाद ने बताया कि दोनों को डीएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में अलग-अलग रखा गया है। दोनों का रिपोर्ट अभी नहीं आया है। आने पर ही कुछ कहा जा सकता है।

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832