क्या चल रहा है?

दिल्ली में नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण, 30 कंटेनमेंट जोन में होगी सख्त निगरानी

  • दिल्ली में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर हो गई 900 के पार
  • पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 183 नए केस आए हैं सामने

चीन से फैला कोरोना वायरस अब पूरी दुनिया को अपनी जद में ले चुका है. भारत में भी यह जानलेवा वायरस तेजी से फैल रहा है. देश की राजधानी दिल्ली में तमाम कोशिशों के बावजूद संक्रमण की रफ्तार थम नहीं रही है. कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए अब दिल्ली में 30 कंटेनमेंट जोन चिन्हित किए गए हैं. यहां और सख्ती बरती जाएगी और कड़ी निगरानी रखी जाएगी और किसी को आने-जाने की इजाजत नहीं होगी.

इसी क्रम में दक्षिणी पूर्वी दिल्ली में जाकिर नगर की गली नंबर 18 से 22 तक की सभी गलियां सील कर दी गई हैं. दरअसल, यहां कोरोनो के कुछ मरीज मिले थे. इसके साथ ही दिल्ली का नबी करीम थाना इलाका भी हॉटस्पॉट घोषित कर दिया गया है. जिसके बाद पूरा इलाका सील हो गया है. बता दें कि ये इलाका पहाड़गंज और सदर बाजार के बीच है.

ताजा जानकारी के मुताबिक दिल्ली में कोरोना के ग्रसित मरीजों की संख्या 903 है. पिछले 24 घंटों में राज्य से कोरोना वायरस के कुल 183 नए मामले सामने आए हैं. खास बात यह है कि कोरोना के इन नए केसों में से 154 मरीज तबलीगी जमात से संबंधित हैं.

इसके अलावा अगर कोरोना से हुई मौतों की बात करें तो दिल्ली में पिछले 24 घंटे में दो लोगों ने अपनी जान गंवाई है. दिल्ली में कोरोना वायरस की वजह से हुई मौतों का आंकड़ा बढ़कर 14 तक पहुंच चुका है.

delhi-containment-zone_041020100251.jpgदिल्ली के कंटेनमेंट जोन

दिल्ली में कोरोना वायरस के 900 से ज्यादा मरीज

देश में कोरोना वायरस के मरीजों में हर रोज इजाफा देखने को मिल रहा है. देश की राजधानी दिल्ली में भी लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो रही है. वहीं अब तक दिल्ली में कोरोना वायरस के 900 से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के मुताबिक अब तक दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों की संख्या 903 हो चुकी है. इनमें से 22 मरीज आईसीयू में भर्ती हैं तो वहीं सात मरीजों को वेंटिलेटर पर रखा गया है. कोरोना वायरस का कोई नया मामला सामने नहीं आया है. वहीं 2-3 दिन में रैपिड किट भी उपलब्ध हो जाएगी.

कोरोना पर aajtak.in का विशेष वॉट्सऐप बुलेटिन डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें

सत्येंद्र जैन ने बताया, ‘दिल्ली में जिन हॉटस्पॉट को चिन्हित किया गया है, वहां हम डोर-टू-डोर जाकर लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग कर रहे हैं. इस दौरान निजामुद्दीन में 6000 घरों को स्कैन किया जा चुका है, जिनमें से एक शख्स कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है.’

क्या होता कंटेनमेंट जोन

कंटेनमेंट जोन वह इलाका होता है जहां कोरोना वायरस के पॉजिटिव केस मिले हों. इसके साथ ही जब स्थानीय प्रशासन को ऐसी संभावना लगे कि उस इलाके में अभी और केस भी सामने आ सकते हैं. इसी वजह से उस पूरे इलाके को सील कर दिया जाता है. उस इलाके हर रास्ते पर पुलिस तैनात कर दी जाती है और लोगों को वहां आने-जाने की इजाजत नहीं होती.

 

 

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832