क्या चल रहा है?

दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर सील, सिर्फ गृह मंत्रालय के पास पर छूट, बहादुरगढ़ में दिल्ली से लगने वाली सड़कें खोदी गई

  • बहादुरगढ़ में टीकरी बॉर्डर पर लगाए सीसीटीवी कैमरे, डीसी कार्यालय बना कंट्रोल रूम
  • गुरुग्राम में बाहर से नौकरी करने आने वालों को गुरुग्राम में ही रहना होगा

पानीपत/गुरुग्राम/बहादुरगढ़. हरियाणा में लॉकडाउन के दूसरे चरण का 17वां दिन है। कुल मरीजों का आंकड़ा 342 पहुंच गया है। सोनीपत, फरीदाबाद के बाद शुक्रवार को दिल्ली से लगने वाले गुरुग्राम की सीमा भी सील कर दी गई है। जिला उपायुक्त ने सख्त आदेश जारी किए हैं, सिर्फ गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए पास को छूट दी गई है। वहीं बहादुरगढ़ में टीकरी बॉर्डर भी सील कर दिया गया है। वहां पर सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं। इसका कंट्रोल डीसी कार्यालय में दे दिया गया है।

गुरुग्राम के सिरोहल बॉर्डर पर नाकाबंदी किए खड़ी पुलिस टीम। अब गुरुग्राम में डीसी के आदेश के बाद पूरी सख्ती कर दी गई है।

दिल्ली से लगने वाली सभी सीमाएं की गई सील, सीमा पार जाने के लिए डीसी की अनुमति अनिवार्य
गुरुग्राम जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। डीसी अमित खत्री द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि दिल्ली की सीमा में जाने के लिए डीसी कार्यालय से अनुमति लेनी होगी। गुरुग्राम में काम करने आने वालों की व्यवस्था गुरुग्राम में ही करनी होगी। सभी पुलिस नाकों पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट की निगरानी में वीडियोग्राफी हो रही है। आदेशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 और भारतीय दंड संहिता 1860 के विभिन्न प्रावधानों के तहत आपराधिक कार्रवाई की जाएगी। गृह मंत्रालय के आदेश अनुसार दी गई छूट के तहत पहले से जिन्हें अनुमति दी गई है, वे सीमा पार आ जा सकेंगे।

बहादुरगढ़ में भी सख्ती, सीसीटीवी कैमरे लगे
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के मकसद से दिल्ली बहादुरगढ़ बॉर्डर पर चल रहे हालात की जानकारी अब सीधे डीसी व एसपी कार्यालय के साथ डीएसपी बहादुरगढ़ कार्यालय में भी देखे जा सकेंगे। इसके लिए टिकरी बॉर्डर पर चार एचडी कैमरे लगाए गए हैं। इससे पहले दिल्ली जाने व अाने वाले लोगों की आवाजाही रोकने के लिए कहीं सड़कों को खोद दिया गया तो कहीं सिर्फ पास वालों को ही एंट्री की इजाजत दी गई। गुरुवार को नजफगढ़ के हरियाणा से सटे गांव की कुछ सड़कों को हरियाणा सरकार की तरफ से खोद दिया गया। ग्रामीणों के अनुसार, बुधवार शाम बुलडोजर आए और सड़कों को खोदने का काम शुरू हो गया था। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि इन सड़कों का इस्तेमाल लोग आने-जाने के लिए न कर सकें और दिल्ली के लोग हरियाणा में दाखिल न हों। झज्जर बहादुरगढ़ प्रशासन ने दिल्ली से लगी सभी सीमाओं को भी सील कर दिया।

हरियाणा में लोग लॉकडाउन का उल्लंघन करने से पीछे नहीं हट रहे हैं लेकिन पुलिस इन पर सख्त कार्रवाई कर रही है। जींद के नरवाना कस्बे में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों का चालान करते हुए पुलिस।

केंद्र सरकार के पास वाले वाहनों की एंट्री से पहले भी हो रही जांच
बहादुरगढ़ में केंद्र सरकार से पास वाली वाहनों की एंट्री को लेकर भी पुलिस ने सख्त रवैया अपनाया हुआ है। इसमें वे सभी वाहनों की तलाशी के बाद ही उसे बहादुरगढ़ में एंट्री दे रहे हैं। एमआई चौंकी प्रभारी पवन वीर ने बताया कि पुलिस की विशेष टीम भी बॉर्डर पर तैनात होने के चलते कोई भी वाहन बिना अाज्ञा के बॉर्डर पार नहीं कर पाए इसके लिए व्यवस्था को और भी अधिक टाइट कर दिया गया है।

हरियाणा में 342 पहुंचा आंकड़ा, अब भी नूंह पहले नंबर पर

  • राज्य में सबसे ज्यादा 58 मरीज नूंह के हैं। गुरुग्राम में 57, फरीदाबाद में 53, पलवल में 34, सोनीपत में 25, झज्जर में 24, पंचकूला में 18, अम्बाला में 14, पानीपत में 13, करनाल में 6, हिसार, रोहतक और सिरसा में 4-4, भिवानी और यमुनानगर में 3-3. जींद, कैथल, कुरुक्षेत्र में 2-2, चरखीदादरी और फतेहाबाद में 1-1 पॉजिटिव मिले हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा गया है।
  • उनके समेत प्रदेश में अब कुल 235 मरीज ठीक हो गए हैं। नूंह में 50, फरीदाबाद में 41, गुरुग्राम में 38, पलवल 32, पंचकूला में 17, अम्बाला में 10, करनाल और पानीपत में 5-5, सिरसा और सोनीपत में 4-4, यमुनानगर में 3, हिसार, कैथल, कुरुक्षेत्र और भिवानी में 2-2, चरखी दादरी, फतेहाबाद 1-1 मरीज ठीक होने पर घर भेजा गया। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं, उनके समेत कुल आंकड़ा 235 हो जाता है।
  • प्रदेश में अब तक 133 जमाती संक्रमित मिले हैं। इनमें सबसे ज्यादा नूंह जिले से हैं। यहां कुल 42 जमाती संक्रमित पाए गए। इसके अलावा, पलवल 31, फरीदाबाद 23, गुरुग्राम 15, अम्बाला 5, पंचकूला 7, यमुनागर 3, भिवानी 2, कैथल, जींद, चरखी दादरी, फतेहाबाद और सोनीपत में एक-एक मरीज संक्रमित मिला। यह सभी मरकज से लौटे थे। जिन्हें अलग-अलग मस्जिदों और गांवों से पकड़ा गया था।

सबसे नया

To Top
//stawhoph.com/afu.php?zoneid=3256832