क्या चल रहा है?

तबलीगी जमातियों का बुरा बर्ताव, फिजूल मांगों को लेकर डॉक्टर और कर्मचारियों पर थूक रहे

Moulana Saad, Tablighi Jamat: दक्षिण दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज जमात में हजारों लोगों को इकट्ठा कर उनकी जान जोखिम में डालने वाले तब्लीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद का एक और ऑडियो वायरल हो रहा है। इसमें वह कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए लोगों को नसीहत देते हुए नजर आ रहे हैं।

मौलाना का दावा, खुद को घर में किया क्वारंटाइन

तब्लीग़ी जमात के अमीर मौलाना साद के इस एक और नए ऑडियो में वे बता रहे हैं कि कोरोना के चलते मैंने अपने आप को क्वारंटाइन किया हुआ है। इसी के साथ वे लोगों से अपील कर रहे हैं कि भीड़भाड़ वाली जगहों पर न जाएं और सरकार ने जो गाइडलाइंस जारी की हैं, उनपर अमल करें। बताया जा रहा है कि कोरोना से हिफाज़त के लिए उन्होंने दुआ भी की है।

रिश्तेदार के घर क्वारंटाइन हो सकते हैं साद

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के दौरान तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में हजारों लोगों को जुटाने का आरोपित साद मुहम्मद दिल्ली में ही किसी रिश्तेदार के यहां क्वारंटाइन है।

इससे पहले बुधवार को साद मुहम्मद ने जमात की इंतजामिया कमेटी के सदस्यों को अपनी एक ऑडियो क्लिप भेजी थी। करीब एक मिनट की इस क्लिप में साद मुहम्मद कह रहा है कि वह डॉक्टरों की सलाह पर दिल्ली में ही क्वारंटाइन हो गया है। हालांकि उसने या नहीं बताया कि वह दिल्ली में कहां पर है?

बता दें कि इससे पहले मरकज के यूट्यूब चैनल और वेबसाइट पर अपलोड पहले की ऑडियो क्लिप में जहां साद मुहम्मद लोगों से कानून की परवाह न करते हुए मस्जिदों में जमा होने और नमाज पढ़ने के लिए उकसा रहा था।

अब लग रहा कानून का डर

वहीं, अब कानून का शिकंजा कसता देख उसके सुर ढीले पड़ गए हैं। इस ऑडियो क्लिप में वह जमात के लोगों से अपील कर रहा है कि वे डॉक्टरों की सलाह और सरकार के नियम कानून का पालन करें।

पांच नहीं सात को किया गया नामजद

तब्लीगी मरकज जमात में पुलिस ने सात मौलानाओं को नामजद किया है। उनके नाम मौलाना मो. साद, मोहम्मद अशरफ, मुफ्ती शरजाद, डॉ. जीशान, मुरशलीन सैफी, यूनुस व मो. सलमान है। सभी मौलाना हैं। ये सभी अलग-अलग राज्यों के मस्जिदों में मौलाना हैं।

Input : Dainik Jagran

सबसे नया

To Top
//luvaihoo.com/afu.php?zoneid=3256832