क्या चल रहा है?

ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी की कोरोना से हुई मौत तो परिजनों को 50 लाख रुपये देगी योगी सरकार

  • यूपी में तेजी से फैल रहा कोरोना का संक्रमण
  • कोरोना शहीदों के परिजनों को मिलेंगे 50 लाख

कोरोना वायरस का संक्रमण देश में लॉकडाउन के बाद भी फैल रहा है. उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आए हैं. उत्तर प्रदेश सरकार ने कोविड-19 बीमारी के उपचार के लिए बड़ा फैसला किया है.

कोविड-19 के उपचार, बचाव और रोकथाम में लगे राज्य सरकार के कर्मियों को बड़ी सुविधा देने का ऐलान किया है. कोरोना संक्रमण से मौत होने पर परिजनों को 50 लाख की आर्थिक मदद दी जाएगी. यह राशि सीधे तौर पर परिजनों को आवंटित की जाएगी.

राजस्व विभाग की अफर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने यह सूचना जारी की है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके सीधे आदेश दिए हैं. पुलिसकर्मियों के साथ-साथ सभी विभागों के सरकारी, अर्धसरकारी, संविदा और आउटसोर्सिंग के जरिए काम कर रहे लोगों को इसका लाभ मिलेगा.

बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले

कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या यूपी में भी लगातार बढ़ रहे हैं. यूपी के 15 जिलों में कोरोना हॉटस्पॉट वाले इलाकों को पूरी तरह से सील कर दिया गया है, जिससे संक्रमण का व्यापक स्तर पर फैलाव न होने पाए. योगी सरकार कोरोना वायरस के मामले पर गंभीर नजर आ रही है.

यूपी में कुल कोरोना वायरस संक्रमण के 452 मामले सामने आए हैं. अब तक कोरोना संक्रमण की वजह से 5 लोगों की यूपी में मौत हुई है, वहीं 45 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं, जिन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है. उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले आगरा से सामने आए थे. दिल्ली से सटे नोएडा में कोरोना वायरस के कुल 64 मामले हैं और मेरठ में 48 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं.

लोगों को दी जा रही आर्थिक मदद

इससे पहले भी योगी सरकार कोरोना संकट को समझते हुए आर्थिक राहत की घोषणा कर चुकी है. महामारी से जूझ रहे देश में राज्य सरकारें जनता की मदद के लिए पूरी तरह से आगे आई हैं. योगी आदित्यनाथ ने लॉकडाउन के बीच 4 लाख 81 हजार शहरी वेंडर्स के लिए राशि भी जारी की. वहीं 11 लाख से अधिक श्रमिकों को 1-1 हजार आर्थिक मदद भी दी.

योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में घोषणा करते हुए कहा था कि मनरेगा के तहत मजदूरी करने वाले करीब 88 लाख ऐसे मजदूर हैं, जिनका भत्ता बढ़ा दिया गया है. जबकि 27 लाख से अधिक मजदूरों का जो बकाया बाकी था, उसे जारी कर दिया गया है. सीएम योगी के मुताबिक, प्रदेश में 87 लाख से अधिक परिवारों को समय से पहले पेंशन जारी कर दी गई है, ताकि किसी को कोई परेशानी ना हो.

15 जिलों के हॉटस्पॉट हो चुके हैं सील

उत्तर प्रदेश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामले देखते हुए 15 जिलों के कोरोना हॉटस्पॉट को सील कर दिया गया था. इनमें गौतमबुद्ध नगर, मेरठ, लखनऊ, गाजियाबाद, कानपुर जैसे जिले शामिल हैं. इन इलाकों में बाहर निकलने पर पूरी तरह से पाबंदी लगाई है. लोगों तक जरूरी सामानों को होम डिलीवरी के जरिए पहुंचाया जा रहा है.

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832