क्या चल रहा है?

जरूरतमंदों के बीच राशन बांटने निकले चिकित्सक कहा- विपत्ति में मदद करना ही है हर इंसान का धर्म

  • कोरोना को लेकर हुए लॉकडाउन में लोगों को राशन-पानी की हो रही है जरूरत

लॉकडाउन के दौरान प्रखंड क्षेत्र में गरीब, नि:सहाय लोगों के बीच उत्पन्न हुए भुखमरी की समस्या को दूर करने में क्षेत्र की कई संस्थाएं लगी है। वहीं, शहर स्थित पुष्पांजलि अस्पताल के मुख्य चिकित्सक डॉ. प्रीतम भी अपनी ओर से क्षेत्र में बसने वाले जरूरतमंद लोगों तक मदद पहुंचाने का काम कर रहे हैं। चिकित्सक के द्वारा प्रखंड के चरघरा, सुंदरनगर, आंबेडकर नगर, रेलवे कॉलोनी में स्थित झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले दर्जनों लोगों के बीच अपनी मानवता दिखाते हुए खाद्य सामग्री का वितरण किया। डॉ. प्रीतम ने बताया कि एक डॉक्टर और मरीज का रिश्ता सिर्फ अस्पताल तक ही नहीं होना चाहिए बल्कि समाज में वैसे लोग जो बेबसी की दलदल में फंसे हुए हैं और उनको मदद की आवश्यकता है। वैसे लोगों की मदद कर उनसे रिश्ता बनाना चाहिए। इन्होंने कहा कि देश को कोरोना जैसे खतरनाक बीमारी से बचाने के लिये पीएम नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन लगाकर लोगों को घरों में रहने की अपील की है। इससे लोग वैसे लोगों से संपर्क होने से बचेंगे जो कोरोना संक्रमण का शिकार बन गए हैं।
राहत कैम्प में पहुंचे लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि वर्तमान समय में लोग भूख की बीमारी से जूझ रहे हैं। ऐसे में उनलोगों के बीच राहत सामग्री देकर उसके दु:खों को दूर किया जा सकता है। क्योंकि एक इंसान का सबसे पहला धर्म इंसानियत का होता है। वहीं, वितरण के दौरान लोगों के बीच सोशल डिस्टेंस के नियमों का भी पालन किया गया।

सबसे नया

To Top
//whugesto.net/afu.php?zoneid=3256832