क्या चल रहा है?

क्वारेंटाइन में रखे गए 644 कंबाइन हार्वेस्टर ड्राइवर, गेहूं कटनी बाधित, डीएम के पास जारी करने पर रोक

  • मुख्य सचिव ने बाहर से अाने वाले लाेगों से तुरंत काम नहीं लेने के लिए कहा, जिलों में उनकी जांच कराने का दिया निर्देश
  • कंबाइन हार्वेस्टर से पटना प्रमंडल में होती है सबसे अधिक कटनी,  25 पास पर यहां पहुंचे थे 40 ड्राइवर और सहायक

पटना. राज्य में गेहूं कटनी पर कोरोना का असर है। अबतक लगभग 40 प्रतिशत ही गेहूं की कटनी हुई है। इसका कारण कंबाइन हार्वेस्टर ड्राइवर की कमी है। सरकार ने पंजाब, यूपी व अन्य राज्यों से कंबाइन हार्वेस्टर ड्राइवर काे बुलाने के लिए 12 जिलों में 819 पास जारी किए। 644 ड्राइवर व सहायक पहुंचे। कोरोना के कारण इन्हें काम करने से रोक कर जिलों में ही 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन कर दिया गया है।
कंबाइन हार्वेस्टर से कटनी सबसे अधिक पटना प्रमंडल में होती है। रोहतास में सबसे अधिक 306 पास पर 315 ड्राइवर व सहायक पहुंचे थे। कैमूर में 173 पास जारी हुए, जिन पर 55 लाेग आए। भोजपुर में 37 पास पर 103 ड्राइवर व सहायक आए। इसी तरह अरवल में 4 पास पर 1, औरंगाबाद में 28 पास 15 ड्राइवर व सहायक पहुंचे। बक्सर में 193 पास 48 लाेग आए। गया 20 पास 12, गोपलगंज में 4 पास 28, जहानाबाद मे 3 पास 9, नालंदा में 4 पास 2, नवादा में 12 पास 18 और पटना में 25 पास पर 40 ड्राइवर व सहायक आए।

22.70 लाख हेक्टेयर में हुई खेती
कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि दलहनी एवं तेलहनी फसलों की कटनी लगभग 95 प्रतिशत से अधिक हो चुकी है। राज्य में लगभग 22 लाख 70 हजार हेक्टेयर में गेहूं की खेती हुई है। इनमें अबतक 40 प्रतिशत की कटनी हो चुकी है। पारंपरिक तरीके से गेहूं की कटनी हो रही है। कोसी व मुंगेर प्रमंडल में 60 प्रतिशत गेहूं की कटनी हो गयी है। दरभंगा प्रमंडल में 45 प्रतिशत, भागलपुर में 42, पूर्णिया में 38, मगध में 34, सारण में 23, जबकि पटना प्रमंडल में 30 प्रतिशत गेहूं की कटनी हुई है।
मंत्री बोले- फसल कटाई की डीएम करेंगे मॉनिटरिंग

केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि लॉकडाउन के बावजूद फसलों की कटाई पर विपरीत प्रभाव न पड़े, इसके लिए केंद्र एवं राज्य सरकार ने महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। किसानों को किसी तरह का नुकसान न हो, यह सरकार की प्राथमिकता में है। किसानों एवं खेतिहर मजदूरों का विशेष ख्याल रखा जा रहा है। फसल कटाई में परेशानी हो लेकर उन्होंने केंद्रीय मंत्री और फिर मुख्यमंत्री एवं उपमुख्यमंत्री से बातचीत की। कहा- फसल कटाई की मॉनिटरिंग डीएम खुद करेंगे, जिससे किसानों को किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े।
रामकृपाल ने सीएम को लिखा पत्र : उधर, सांसद रामकृपाल यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से रबी के फसलों की कटाई हार्वेस्टर या अन्य माध्यमों से सुगमता से करवाने में पहल की अपील की है। इस संबंध में उन्होंने सीएम को पत्र भी लिखा।

Source :www.bhaskar.com

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832