क्या चल रहा है?

कोविड-19 आईसीयू में तैनात नर्सिंग ऑफिसर बोले-हमको भी डर लगता है, लेकिन लोगों के सहयोग और समर्थन ने बढ़ाया हौसला

  • बच्चों को रिश्तेदार के पास छोड़ पति, पत्नी कर रहे राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल में ड्यूटी
  • परिवार के लोग भी कोरोना वॉर्ड में ड्यूटी की बात सुनकर डर गए थे , लेकिन अब हौसला बढ़ाते है

नई दिल्ली. राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल में कोविड-आईसोलेशन वार्ड में ड्यूटी पर तैनात नर्सिंग ऑफिसर अखिलेश शर्मा का कहना है कि हमको भी डर लगता है, लेकिन लोगों का सहयोग हिम्मत बढ़ा रहा है। परिवार के लोगों को भी कोविड वार्ड में ड्यूटी की बात सुनकर डर गए, लेकिन अब सावधानी से काम करने की सलाह देने और हौसला बढ़ाते है। अखिलेश ने बताया कि उनकी पत्नी रितू भारद्वाज भी जीटीबी अस्पताल में कोविड-19 आईसीयू में तैनात है। वह भी नर्सिंग ऑफिसर है। दोनों बच्चों को संक्रमण से बचाने के लिए नाना-नानी के घर भेज दिया है।

गर्व है कि कठिन समय में मरीजों की देखभाल कर रहे
अखिलेश शर्मा ने बताया कि हम दोनों पति-पत्नी कोविड-19 मरीजों की कठिन समय में देखभाल कर रहे हैं। इससे गर्व होता है। रिश्तेदार और परिचितों का पहले फोन आने पर चिंता कर रहे थे। लेकिन अब वह भी कहते है कि अपनी ड्यूटी ईमानदारी से करो। किसी भी प्रकार की जरूरत हो तो हमें बताना। इस पर लोगों का समर्थन और सहयोग की भावना से हौंसला बढ़ रहा है।

पति-पत्नी ने वीडियो कॉल से अपने बच्चे को दी जन्मदिन की बधाई

अखिलेश मूलरूप से गंगपुर राजस्थान के रहने वाले है। अभी कोविड की वजह से उनको अकेले रहने के लिए होटल लीला में कमरा दिया गया है। उनकी पत्नी रितू घर पर अकेले रहती है। अखिलेश ने बताया कि उनके बेटे का 26 मार्च को जन्मदिन था। दोनों पति-पत्नी बच्चे से मिलने नहीं जा सके। दोनों ने वीडियो कॉल से बच्चे को बधाई दी। अखिलेश ने बताया कि उनके 13 साल की नौकरी में कभी ऐसा माहौल नहीं देखा। ड्यूटी पर होने पर पानी पीने में भी डर लगता है कि कही संक्रमित ना हो जाए।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें
अखिलेश ने कहा कि वह लोगों से सिर्फ यहीं कहना चाहते है कि लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। सरकार का आदेश का पालन करें। इसी रास्ते से सभी लोग अपने और अपने परिवार को कोरोना जैसी बीमारी से बचा सकते है।

Source :www.bhaskar.com

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832