क्या चल रहा है?

कोरोना: 11 लाख मजदूरों के खाते में योगी सरकार ने डाले 1-1 हजार, 4 लाख शहरी वेंडर्स को भी मदद

  • उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन का कामकाज पर असर
  • योगी सरकार ने मजदूरों को दी आर्थिक मदद

कोरोना वायरस महामारी के संकट से जूझ रहे देश में लगातार सरकारों की ओर से मदद दी जा रही है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को प्रदेश के बड़े अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. इस दौरान उन्होंने चार लाख से अधिक शहरी वेंडर्स को सीधे आर्थिक मदद भी ट्रांसफर की.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ये मदद जारी की. जो कि 4 लाख 81 हजार शहरी वेंडर्स को दी गई है. इसके अलावा 11 लाख से अधिक श्रमिकों को 1-1 हजार रुपये की मदद दी गई है.

योगी आदित्यनाथ ने यहां जानकारी देते हुए कहा कि मनरेगा के तहत मजदूरी करने वाले करीब 88 लाख ऐसे मजदूर हैं, जिनका भत्ता बढ़ा दिया गया है. जबकि 27 लाख से अधिक मजदूरों का जो बकाया बाकी था, उसे जारी कर दिया गया है. योगी के मुताबिक, प्रदेश में 87 लाख से अधिक परिवारों को समय से पहले पेंशन जारी कर दी गई है, ताकि किसी को कोई परेशानी ना हो.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि केंद्र सरकार की ओर से प्रदेश को 2 करोड़ से अधिक किसानों को मदद पहुंचाई जा रही है. साथ ही साथ केंद्र की ओर से रसोई गैस, महिलाओं को आर्थिक मदद और राशन की व्यवस्था भी की गई है, जिसे राज्य सरकार जमीनी स्तर पर उतार रही है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी आई है और ये संख्या 300 के पार चली गई है. योगी आदित्यनाथ खुद लगातार समीक्षा बैठक कर रहे हैं और लगातार अधिकारियों के संपर्क में हैं.

राज्य सरकार ने कोरोना संकट को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों के कोरोना हॉटस्पॉट को सील करने का काम किया है. इनमें गौतमबुद्ध नगर, मेरठ, लखनऊ, गाजियाबाद, कानपुर जैसे जिले शामिल हैं.

 

Source :aajtak.intoday.in

सबसे नया

To Top
//stawhoph.com/afu.php?zoneid=3256832