क्या चल रहा है?

कोरोना से निपटने के लिए गौतमबुद्ध नगर में प्रशासन ने उठाए ये सख्त कदम

  • उत्तर प्रदेश में कोरोना के मरीजों की संख्या 430 पार
  • गौतमबुद्ध नगर में 22 कोरोना हॉटस्पॉट किए गए सील
  • अब नोएडा में 30 अप्रैल तक लागू रहेगी धारा 144

कोरोना वायरस हिंदुस्तान समेत पूरी दुनिया में कहर बरपा रहा है. इस जानलेवा वायरस को फैलने से रोकने के लिए हिंदुस्तान समेत कई देशों ने लॉकडाउन कर रखा है. कोरोना वायरस से निपटने के लिए पूरा हिंदुस्तान एक हो गया है और स्थानीय प्रशासन से लेकर केंद्र सरकार तक लगातार कदम उठाए जा रहे हैं.

इसके बावजूद उत्तर प्रदेश समेत पूरे देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. अब तक उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या 430 से ज्यादा हो चुकी है, जिनमें से 4 लोगों की मौत हो चुकी है और 32 लोग इलाज से ठीक हो चुके हैं. कोरोना वायरस से निपटने के लिए गौतमबुद्ध नगर में भी प्रशासन तेजी से काम कर रहा है.

कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों को लगातार अस्पताल भेजा जा रहा है और उनकी कोरोना जांच कराई जा रही है. योगी सरकार ने गौतमबुद्ध नगर को सील भी कर दिया है. इसके साथ ही नोएडा में धारा 144 को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है. अगर इस दौरान कोई मकान मालिक किसी डॉक्टर, नर्स या मेडिकल स्टाफ को घर खाली करने को कहता है, तो उसके खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई की जा सकती है.

शनिवार को गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास लालिनाकेरे यथिराज ने मीडिया से बातचीत के दौराना कोरोना वायरस को लेकर की गई तैयारियों के बारे में जानकारी दी. आइए जानते हैं कि गौतमबुद्ध नगर में कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रशासन ने क्या-क्या कदम उठाए हैं….

  1. जिले में पहले 300 लोगों की टीम बनाई थी, लेकिन अब टीम बढ़ाकर 407 लोगों की हो गई है.

  2. गौतमबुद्ध नगर में 14 रेपिड रिस्पॉस टीम बनाई गई हैं.

  3. कॉन्टैक्ट रेसिंग एंड ट्रेवल स्टेटस से भी कोरोना वायरस को फैलने से रोकने में मदद मिल सकती है. इस पर मेडिकल इंटर्न और मेडिकल स्टाफ लगातार काम कर रहे हैं.

  4. अब तक दो टेस्टिंग लैब के लिए धनराशि जारी कर दी गई है. हालांकि अभी तक गौतमबुद्ध नगर में कोई टेस्टिंग लैब नहीं है. कोरोना वायरस की जांच के लिए सैंपल आगरा, सैफई और लखनऊ भेजे जा रहे हैं.

  5. जिले के सभी 22 कोरोना हॉटस्पॉट को सील करते हुए ड्रोन कैमरों से निगरानी की जा रही है और इलाके को सैनिटाइज किया जा रहा है.

  6. लॉकडाउन के दौरान 18004192211 नंबर पर कॉल करके कंट्रोल रूम से मेडिकल सपोर्ट और राशन वितरण समेत अन्य जानकारी हासिल की जा सकती है.

  7. अस्पतालों और कुछ होटलों को भी कब्जे में लिया गया है, जिनमें डॉक्टर, उनके परिवार और कोरोना वायरस के मरीजों को रखने की व्यवस्था की गई है.

  8. गौतमबुद्ध नगर में बड़े पैमाने पर मजदूर रहते हैं, उन्हें खाने-पीने के लिए पैसा दिया गया है. प्रशासन ने राशन बांटने के लिए 28 केंद्र भी बनाए हैं.

  9. विदेशी यात्रा करने वाले सभी लोगों का पता लगाया जा चुका है. अब जिले में कोई ऐसा व्यक्ति नहीं है, जिसकी ट्रैवल हिस्ट्री प्रशासन के पास न हो.

  10. मुजफ्फरनगर से एक कोरोना मरीज आया था. इसकी जानकारी के बाद जेपी अस्पताल में ऑपरेशन थिएटर और कमरे को सील कर सैनिटाइज किया जा रहा है.

 

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832