क्या चल रहा है?

कोरोना का पहला मरीज मिला, प्रशासन ने क्षेत्र सील कराया, ट्रेवेल हिस्ट्री खंगालने में जुटी टीम

  • ओरछा गेट का रहने वाली है संक्रमित महिला
  • रविवार को 114 सैंपल की जांच गई, जिनमें एक केस मिला

झांसी. लॉकडाउन फेज दो के 13वें दिन सोमवार को झांसी में पहले कोरोना संक्रमित की पुष्टि हुई है। मेडिकल कॉलेज प्रशासन के अनुसार, रविवार को 114 सैंपल की जांच की गई, जिसमें एक केस पॉजिटिव आया है। 59 वर्षीय संक्रमित मरीज ओरछा गेट का रहने वाली है। उसे मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। हालत स्थिर बताई जा रही है। उसकी ट्रेवेल हिस्ट्री खंगाली जा रही है। जिला प्रशासन ने कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए ओराछा गेट एरिया को हॉटस्पॉट बनाते हुए इसे सील कर दिया है। गंज क्षेत्र में रहने वाले लोगों को सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है।

राहत का सबब बने कम्युनिटी किचेन
कोरोनावायरस कम्युनिटी स्तर पर न फैलने पाए, इसके लिए लॉकडाउन जारी है। इस बीच मजदूरी पेशा वर्ग व रोड किनारे रहकर जीव बिताने वालों के सामने खाने पीने का संकट है। इनके लिए झांसी में जिला प्रशासन व स्वयं सेवियों द्वारा 80 सामुदायिक रसोई घर राहत का सबब बन रहे हैं। ये रसोई अब तक चार लाख अस्सी हजार से ज्यादा लोगों की भूख मिटा चुके हैं। इनकी गुणवत्ता परखने के लिए स्वयं जिला अधिकारी अलग-अलग जगह जाकर खाना खाते हैं।

हर दिन 22 हजार लोगों को दिया जा रहा खाना

जनपद में 25 सरकारी और 55 गैर सरकारी कम्युनिटी किचन में हर रोज 20 से 22 हजार तक लोगों का खाना बन रहा है। यहां सफाई का विशेष ध्यान रखा जाता है। प्रशासनिक अधिकारी खाने की गुणवत्ता को लेकर मॉनिटरिंग करते हैं। यहां से बने फूड पैकेट क्वॉरैंटाइन सेंटर और जरूरतमंद लोगों तक पहुंचते हैं।

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832