क्या चल रहा है?

कोटा में फंसे बिहार के छात्रों को वापस लाने की मांग कर रहे छात्रों को पुलिस ने गिरफ्तार किया

  • मनीष ने कहा- बिहार के छात्र केंद्र और राज्य सरकार की उपेक्षा के शिकार हैं
  • लवकुश ने कहा- हमने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए धरना दिया था

पटना. राजस्थान के कोटा में फंसे बिहार के छात्रों को वापस बुलाने की मांग को लेकर मंगलवार को कुछ छात्रों ने पटना विश्वविद्यालय के मुख्यालय के मुख्य द्वार पर प्रदर्शन किया। इसमें पटना विवि छात्रसंघ के अध्यक्ष मनीष यादव, लवकुश यादव, आदित्य मिश्रा आदि शामिल थे।

छात्रों के धरना देने की सूचना मिलते ही पुलिस पहुंच गई और धरना में शामिल सभी छात्रों को लॉकडाउन के उल्लंघन के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। इस संबंध में पटना विवि छात्रसंघ के अध्यक्ष मनीष यादव ने बताया कि कोटा सहित देश के दूसरे हिस्सों में फंसे बिहार के छात्र लगातार केंद्र और राज्य सरकार की उपेक्षा के शिकार हो रहे हैं। इन छात्रों के पास जीवन-यापन का संकट है, भोजन का भी संघर्ष है। लेकिन न केंद्र की सरकार कुछ मुहैया करा रही है और न ही बिहार सरकार उन्हें सुरक्षित तरीके से घर वापस लाने की दिशा में काम कर रही है।

लवकुश यादव ने बताया कि हम लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एक दूसरे से दूरी बना कर धरना दिया है। हमारी कोशिश सिर्फ इतनी है कि जो भी छात्र हैं उनकी मदद हो, उन्हें सुरक्षित घर वापस लाया जाए।

सबसे नया

To Top
//stawhoph.com/afu.php?zoneid=3256832