क्या चल रहा है?

केस करने के नाम पर लिए गए 10 हजार रुपए लौटाने का चल रहा खेल

  • उदाकिशुनगंज के डोहटवारी टोला वार्ड-2 का है मामला

उदाकिशुनगंज. उदाकिशुनगंज के थानाध्यक्ष शशिभूषण सिंह पर मारपीट के एक मामले में 10 हजार रुपए लेकर भी केस नहीं करने के मामले में नया खुलासा हुआ। बुधवार को जब इस खबर के संबंध में थानाध्यक्ष से बयान लिया गया तो उसके बाद महिला के ससुर को गुपचुप 10 हजार रुपए लौटाने की पेशकश की गई। थानाध्यक्ष के कई हिमायती जनप्रतिनिधि मामले को रफा-दफा करने में जुटे हुए हैं। पीड़िता के ससुर मो. इलियास ने बताया कि रातभर थानाध्यक्ष के डर से घर में सोया नहीं हूं। बुधवार की शाम को मुख्यालय के ही एक जनप्रतिनिधि उसके घर पर खोजने के लिए आए। उसके नहीं मिलने पर बाजार में भेंट की। अपनी बाइक पर बैठाकर उन्हें कोसी कॉलोनी ले गया। वहां पर जबरन उसे 10 हजार रुपए वापस करने का प्रयास किया गया, लेकिन हमने रुपए नहीं लिए।  उक्त जनप्रतिनिधि से जब इस बाबत जब पूछा गया तो वह सकपका गए, उन्होंने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। जबकि मामले कि जानकारी के लिए थानाध्यक्ष को कई बार फोन किया गया, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

विदित हो कि 8 मई की शाम काे लाडो खातून और उसके ससुर मो. इलियास के साथ पड़ोस के ही आधा दर्जन लोगों का भूमि विवाद में मारपीट हो गई थी। इसके बाद पीड़िता घटना का केस कराने के लिए थाने पहुंची। पीड़िता और उसके ससुर का आरोप है कि थाने में केस दर्ज करने के नाम पर थानाध्यक्ष ने 10 हजार रुपए की मांग की। इसके बाद महिला के ससुर ने थानाध्यक्ष को 10 हजार रुपए दे दिए और दोबारा आवेदन सुधार कर लाने को कहा। आवेदन दोबारा लिखकर लाने के बाद उन्होंने आवेदन को फेंक दिया और केस भी नहीं किया। थानाध्यक्ष ने कहा कि तुमलोगों पर केस हो गया है, थाने से चले जाएं, नहीं तो गिरफ्तार कर लेंगे।

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832