क्या चल रहा है?

कर्नाटक में दो भाइयों ने लोगों की मदद के लिए जमीन का सौदा किया, इससे मिले 25 लाख रुपए जरूरतमंदों पर खर्च करेंगे

  • लॉकडाउन के दौरान कोलार में दैनिक वेतन भोगियों और उनके परिवारों की हालत देखकर हम दोनों ने जमीन का सौदा करने का फैसला लिया
  • हमने बॉन्ड साइन करके दोस्त से जमीन के बदले पैसे ले लिए ताकि जरूरतमंद लोगों के लिए ज्यादा से ज्यादा सामान खरीद लें

बेंगलुरु. कोरोनावायरस ने दुनियाभर में तबाही मचा रखी है। इस बीच, देश और दुनिया में कई मददगार लोग भी सामने आ रहे हैं। उनके सहयोग का यह जज्बा भी लोगों को इस महामारी का सामना करने का हौसला दे रहा है। ऐसा ही एक मामला शनिवार को कर्नाटक के कोलार जिले से सामने आया। यहां दो भाइयों तजम्मुल पाशा और मुजम्मिल पाशा ने गरीबों को भोजन करवाने के लिए अपनी जमीन का 25 लाख रुपए में सौदा कर दिया।

पाशा ब्रदर्स केले की खेती और रियल एस्टेट का काम करते हैं। जब उनके माता-पिता का देहांत हुआ तब तजम्मुल की उम्र पांच साल जबकि मुजम्मिल की उम्र केवल 3 साल थी। इसके बाद दोनों भाई दादी के पास चले गए थे।

लोगों की मदद के लिए जमीन बेचने का फैसला किया

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान कोलार में दैनिक वेतन भोगियों और उनके परिवारों की हालत देखकर हम दोनों ने तय किया कि इनकी मदद करने के लिए हम अपनी जमीन बेच देते हैं। इससे मिले पैसों से लोगों के लिए ज्यादा से ज्यादा जरूरत का सामान खरीद सकेंगे।

कम्युनिटी किचन बनाया ताकि लोगों को भोजन मिले

दोनों भाइयों ने लोगों को राशन सामग्री के साथ ही पैसे भी दिए। इसके साथ ही एरिया में टेंट लगाकर कम्युनिटी किचन बनाया ताकि वहां तैयार भोजन जरूरतमंद लोगों के बीच बांटा जा सके। 3 हजार से ज्यादा परिवार को राशन मुहैया करवाया। लोगों को सैनिटाइजर और मास्क भी बांटे हैं।

हर समुदाय ने बिना भेदभाव हमारी मदद की- तजम्मुल
तजम्मुल पाशा ने कहा, “हमारे माता-पिता का जल्दी देहांत हो गया था। जब हम कोलार में अपनी दादी के घर आए तो यहां मौजूद हिंदू-मुस्लिम-सिख-ईसाई समुदाय के लोगों ने ही बिना भेदभाव हमें जिंदगी जीने में मदद की थी। हम गरीबी में पले-बढ़े हैं। हमने बॉन्ड पर साइन करके जमीन का सौदा अपने दोस्त से कर लिया है।”

कोलार प्रशासन ने वॉलंटियर्स को पास जारी किए

कोलार प्रशासन ने दोनों भाइयों के वॉलंटियर्स को पास जारी किए हैं ताकि वे लोग बिना किसी बाधा के लोगों की मदद कर सके। भारत में कोरोनावायरस के संक्रमितों की संख्या 24 हजार से ज्यादा हो चुकी है। गृह मंत्रालय के मुताबिक, संक्रमण से मरने वालों की संख्या 775 हो चुकी है।

केंद्र सरकार ने 25 मार्च को लगाया था लॉकडाउन

संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए भारत सरकार ने 25 मार्च को देशभर में लॉकडाउन लगा दिया था। फिलहाल लॉकडाउन का दूसरा फेज चल रहा है। हालांकि, शुक्रवार रात ही केंद्र सरकार ने इसमें कुछ ढील दिए जाने को लेकर आदेश जारी किए थे।

सबसे नया

To Top
//zuphaims.com/afu.php?zoneid=3256832