क्या चल रहा है?

कभी लताजी की गोद में नजर आए तो कभी बच्चों को गाेद में लेकर मुस्कुराए

सदाबहार अभिनेता ऋषि कपूर अब नहीं रहे। मेरा नाम जोकर से अपने पिता राज कपूर के बचपन की भूमिका से अभिनय सफर की शुरुआत करने वाले ऋषि कपूर आखिरी बार सिल्वर स्क्रिन पर इमरान हाशमी स्टारर दी बॉडी (2020) में दिखे थे। कैंसर जैसी बीमारी से जूझते हुए भी कैमरे के आगे और सोशल मीडिया दोनों पर लगातार एक्टिव रहे। इस पूरे कालखंड में अनगिनत किस्से और यादें हैं, तस्वीरें हैं, जो हमेशा उनके चाहने वालों के दिलो-दिमाग पर छाई रहेंगी।

लताजी की गोद में

इस तस्वीर को कुछ दिन पहले ऋषि कपूर ने ट्वीट किया था।

ये तस्वीर शो-मैन राज कपूर के एक पारिवारिक समारोह की है। ऋषि कपूर के जन्म को तब शायद 6-7 महीने ही हुए थे। स्वर-साम्राज्ञी लता मंगेश्कर की गोद में नन्हे ऋषि।

होली के रंगों में सराबोर ऋषि

बॉलीवुड में आरके स्टूडियो की होली हमेशा पसंदीदा रही है। राज कपूर बड़े पैमाने पर होली उत्सव का आयोजन करते थे। ऋषि कपूर के बचपन की ये तस्वीर उसी दौर की है, जब आरके स्टूडियो में जमकर रंग बरसता था और पूरा बॉलीवुड वहां मौजूद होता था।

प्राण के साथा चर्चा में

राज कपूर की फिल्मों में अपने जमाने के सबसे शानदार खलनायक माने जाने वाले प्राण की खासी भूमिका होती थी। प्राण और राज कपूर की दोस्ती काफी दिलचस्प थी, राज कपूर की फिल्मों के लिए प्राण हमेशा उपलब्ध रहते थे। ये तस्वीर उसी दौर की है, जब मास्टर चिंटू (ऋषि कपूर) प्राण से कुछ गुफ्तगु कर रहे हैं। ऋषि की बतौर हीरो पहली फिल्म बॉबी में प्राण ने ही उनके पिता की भूमिका की थी।

रणधीर के साथ चिंटू जी

भाई रणधीर के साथ ऋषि। बड़े भाई रणधीर के साथ ऋषि का रिश्ता हमेशा खास रहा। शुरुआती दिनों में वे अक्सर रणधीर के साथ ही दिखते थे।

बचपन की मस्ती में डूबे

कपूर्स का बर्थ-डे सेलिब्रेशन। अपने भाइयों और दोस्तों के साथ ऋषि कपूर।

खलनायकों के बीच

खूंखार विलेंस के बीच चॉकलेटी बॉय। ऋषि कपूर की इमेज लवर बॉय या चॉकलेटी हीरो की रही। मारधाड़ वाली फिल्में उनके हिस्से में कम ही आईं। इंडस्ट्री के तीन सबसे खूंखार खलनायकों प्रेम चोपड़ा, प्राण और अमरीश पुरी के साथ ऋषि कपूर।

शूटिंग के दौरान

पिता राज कपूर की आखिरी फिल्म हिना की शूटिंग के दौरान की ये तस्वीर है। कुम्हार के चाक पर मटकी बनाने में हाथ आजमाते हुए।

डेब्यू फिल्म से बिहाइंड द सीन

बचपन का प्यार। तस्वीर है फिल्म मेरा नाम जोकर की। जिसमें राज कपूर के बचपन का किरदार निभाने वाले ऋषि को टीचर से प्यार हो जाता है। टीचर सिमी ग्रेवाल जो मनोज कुमार से शादी करने वाली है। उसी का एक दृश्य जिसमें ऋषि अपनी टीचर सिमी के साथ।

अधूरी फिल्म की कहानी

कन्यादान की शूटिंग के दौरान अनु अग्रवाल और दिव्या भारती के साथ ऋषि कपूर। हालांकि महज 19 साल की उम्र दिव्या की असमय मौत के कारण यह फिल्म पूरी नहीं हो सकी थी।

संजय दत्त के साथ बिताए पल

फिल्म साहिबा की शूटिंग के दौरान मौजमस्ती का दौर। संजय दत्त और ऋषि कपूर की दोस्ती काफी अलग रही है। ऋषि ने एक बार संजय को अपने बेटे रणबीर को ना बिगाड़ने के लिए चेतावनी भी दी थी। दोनों ने कुछ फिल्मों में साथ काम किया, इनमें से एक साहिबा थी, जिसमें संजय और ऋषि के बीच एक ही नायिका माधुरी दीक्षित थी।

समधी नवाब पटौदी के साथ

मशहूर क्रिकेटर नवाब पटौदी के साथ ऋषि कपूर। बाद में ऋषि की भतीजी करीना ने पटौदी के बेटे सैफ के साथ शादी की। जिससे ये इन समधियों की इकलौती तस्वीर बन गई।

डायरेक्टर के रूप में चिंटू

1999 में आई ऋषि कपूर के डायरेक्शन में बनी इकलौती फिल्म थी आ अब लौट चलें। इस फिल्म में ऐश्वर्या राय और अक्षय खन्ना लीड रोल में थे। फिल्म नहीं चली, लेकिन इसका संगीत बेहद पसंद किया गया। यह आरके स्टूडियो के बैनर तले बनने वाली आखिरी फिल्म भी रही।

सबसे नया

To Top
//luvaihoo.com/afu.php?zoneid=3256832