क्या चल रहा है?

कपाट खोलने केवल मुख्य पुजारी और चुनिंदा पुरोहित जाएंगे; पिछले साल 30 लाख श्रद्धालुओं ने यात्रा की थी, इस बार 90 फीसदी बुकिंग रद्द

  • 29 अप्रैल को खुलेंगे केदारनाथ के कपाट, 26 अप्रैल को गंगोत्री और 30 को बद्रीनाथ के
  • एक अनुमान के मुताबिक चारधाम यात्रा के दौरान मई से अक्टूबर के बीच 12 हजार करोड़ का कारोबार होता है

नई दिल्ली. (अनिरुद्ध शर्मा) कोरोनावायरस का चारधाम यात्रा पर भी असर पड़ेगा। उत्तराखंड के बद्रीनाथ सहित 4 धाम के कपाट खोलने के लिए इस बार केवल मुख्य पुजारी और एक दर्जन भर पुरोहित ही जा पाएंगे। अक्षय तृतीया (26 अप्रैल) को यमुनोत्री और गंगोत्री, 29 अप्रैल को केदारनाथ और 30 अप्रैल को बद्रीनाथ के कपाट खुलने हैं। श्रद्धालु अखंड ज्योति के दर्शन से भी वंचित रहेंगे।

उत्तरकाशी के जिलाधिकारी आशीष चौहान के मुताबिक केंद्र से विशेष अनुमति मांगी जा रही है ताकि परंपराओं का निर्वहन हो सके। पिछले वर्ष 30 लाख श्रद्धालुओं ने चारधाम यात्रा की थी। होटल, ट्रैवल बुकिंग, रेस्तरां से मई से अक्टूबर तक करीब 12,000 करोड़ रु. का कारोबार होता है। लेकिन इस साल 90% तक बुकिंग रद्द हो चुकी हैं।

Source :www.bhaskar.com

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832