क्या चल रहा है?

कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों की 14 दिन में तीन बार की जाएगी स्क्रीनिंग

  • दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए जारी किए आदेश, लोगों की आवाजाही पर रहेगा प्रतिबंध

नई दिल्ली . कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कंटेनमेंट जोन में रहने वाले सभी लोगों की 14 दिन में तीन बार स्क्रीनिंग होगी। जिससे कोरोना के लक्षण के मरीज को केंटनमेंट जोन से अलग किया जा सके। इस संबंध में दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) ने गुरुवार को आदेश जारी कर दिए। आदेश के अनुसार कंटेनमेंट जोन घोषित होने के तीन दिन के अंदर पहली स्क्रीनिंग का काम पूरा करना होगा।

 स्क्रीनिंग डॉक्टरों की टीम की मॉनीटरिंग में होगी

14 दिन पूरे होने से पहले सभी लोगों की तीन बार स्क्रीनिंग का काम पूरा करना होगा। स्क्रीनिंग प्रोटोकाल के अनुसार और डॉक्टरों की टीम की मॉनीटरिंग में की जाएगी। आदेश के अनुसार कंटोनमेंट जोन में रहने वाले सभी लोगों को आरोग्य सेतु एप के बारे में भी जानकारी दी जाएगी और इसके इस्तेमाल के लिए प्रेरित किया जाएगा। वहीं, केंटनमेंट में जोन में रहने वाले सीनियर सिटीजन और पहले से दूसरी बीमारी से पीड़ित लोगों की जानकारी जुटाई जाएगी, ताकि उनके स्वास्थ्य की निगरानी की जा सके। वहीं, आयुष मंत्रालय की गाइडलाइन का केंटनमेंट जोन में प्रचार-प्रसार किया जाएगा, जिससे की लोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उचित उपाय करें।
ज्यादा आबादी तो माइक्रो लेवल पर प्लानिंग तैयार की जाएगी 
10 हजार से ज्यादा आबादी वाले कंटोनमेंट जोन के लिए माइक्रो लेवल पर प्लान तैयार किया जाएगा। जिसमें कंटोनमेंट जोन के लिए तय दिशा निर्देशों और सुरक्षा के उपाय का पालन कराया जाएगा। इसके तहत जरूरी सेवाओं और लॉ एंड ऑर्डर को छोड़कर बाकी आवाजाही पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगी। वहीं, कंटोनमेंट जोन में केंद्र सरकार के सभी दिशा निर्देशों का पूरी तरह पालन करना सुनिश्चित भी करा जाएगा।
इधर,  सीएम केजरीवाल बोले- कोटा के लिए रवाना की जा रही हैं 40 बसें

राजस्थान के कोटा में फंसे दिल्ली के छात्रों को लाने के लिए 40 बसें भेजी जा रही हैं। यह जानकारी शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऑनलाइन प्रेसवार्ता में दी। केजरीवाल ने कहा कि आईआईटी की तैयार करने गए दिल्ली के बच्चे कोटा फंसे हुए थे, मेरे हाथ बंधे थे, क्योंकि केंद्र की मंजूरी के बिना हम कोई कदम नहीं उठाना चाहते थे। बुधवार को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी। शुक्रवार को दिल्ली से करीब 40 बसें कोटा जा रही है, उम्मीद है कि शनिवार तक बच्चे वापस आ जाएंगे। इसके अलावा अलग-अलग राज्यों के दिल्ली में फंसे प्रवासी मजदूर, छात्र, पर्यटक, तीर्थयात्री और अन्य लोगों को उनके राज्य में भेजने दिल्ली सरकार ने नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिए गए हैं।

मई माह में दोगुना और मुफ्त राशन मिलेगा : मुख्यमंत्री
दिल्ली सरकार मई में जरूरतमंदों को पहले से दोगुना और मुफ्त राशन उपलब्ध कराएगी। सरकार सामान्य रूप से 5-5 किलो प्रति व्यक्ति राशन देती है। पिछले माह डेढ़ गुना यानी 7.5 किलो राशन सभी को दिया गया। मई माह में सभी को 10 किलो हर व्यक्ति को राशन देंगे। साथ में जरूरी सामान की एक किट भी दी जाएगी।
ज्यादा टेस्ट से ज्यादा मरीज 
सीएम ने कहा कि दिल्ली में करीब 3500 केस हो गए हैं। जिससे लगता है कि कोराना फैल रहा है, जबकि ऐसा नहीं है। सरकार प्रति 10 लाख आबादी पर 2300 टेस्ट करा रही है।

सबसे नया

To Top
//whugesto.net/afu.php?zoneid=3256832