क्या चल रहा है?

एक मरीज के कारण डाकबंगला के पास का इलाका और पटेल नगर का रोड नंबर 5 सील

  • बैंक ऑफ बड़ौदा का कैश कस्टोडियन और मसौढ़ी की एक महिला कोरोना संक्रमित
  • बैंककर्मी के अपार्टमेंट आशियाना श्री तारकेश्वर रीजेंसी के लोगों के बाहर निकलने पर रोक

पटना. डाकबंगला चौराहा स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा का कैश कस्टोडियन शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। सीएमएस कंपनी के कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी मिलने के बाद चेस्ट में कार्यरत दो कर्मी बुधवार शाम खुद जांच कराने के लिए एम्स गए थे। इनमें से एक निगेटिव और एक पॉजिटिव पाया गया है। शनिवार और रविवार को बैंक बंद है। इन दो दिनों में बैंक के सभी कर्मियों की जांच कराई जाएगी। बैंक को सील नहीं किया गया है लेकि उसकी तरफ आने-जाने पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है।
निगरानी के लिए मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस जवानों की प्रतिनियुक्ति की गई है। इस क्षेत्र में भी किसी को भी आने-जाने की अनुमति नहीं मिलेगी। अन्य कर्मियों के पॉजिटिव नहीं आने पर बैंक को सेनेटाइज करने के बाद खोलने की अनुमति सोमवार को दी जा सकती है। यदि अन्य कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए जाते हैं तो बैंक सील होगा। बैंक के सीसीटीवी फुटेज से आने-जाने वाले लोगों की पहचान की जाएगी, ताकि कोरोना चेन को ब्रेक किया जा सके। डीएम कुमार रवि ने कहा कि बैंक खोलने की अनुमति देने से पहले प्रशासन पूरी तरह से सुनिश्चित कर लेगा कि बैंककर्मियों में कोरोना का लक्षण नहीं है। बैंक के आसपास के इलाके में नगर निगम को सेनेटाइज करने का निर्देश दिया गया है।

बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक

कोरोना पॉजिटिव मिला बैंककर्मी पटेल नगर के आदर्श पथ स्थित रोड नंबर-5 में रहता है। इस रोड को सील कर दिया गया है। यहां बाहरी लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। बैंककर्मी के अपार्टमेंट आशियाना श्री तारकेश्वर रीजेंसी के लोगों के बाहर निकलने पर रोक लगा दी गई है। निगरानी के लिए दंडाधिकारी, पुलिस अधिकारी के साथ पुलिस जवानों की प्रतिनियुक्त कर दी गई है। इस अपार्टमेंट और आसपास के इलाके के लोगों की स्वास्थ्य जांच कराने के साथ सेनेटाइज करने का कार्य शनिवार की सुबह से शुरू होगा।

मसौढ़ी की कोरोना मरीज के पुत्र-बहू पंजाब से आए थे

मसौढ़ी के लहसूना गांव की कोरोना पॉजिटिव मिली महिला पहले से किडनी व हार्ट की बीमारी से ग्रसित है। उसका इलाज पटना एम्‍स में हो रहा था। बुधवार को उसकी तबीयत ज्‍यादा खराब हो गई थी। उसका बेटा पंजाब में काम करता था और वह अपनी पत्‍नी के साथ लॉकडाउन शुरू होने के पहले पंजाब से आ रही अंतिम ट्रेन से घर लौट रहा था। लेकिन, ग्रामीणों की मनाही के कारण वह ट्रेन से दानापुर उतर गया और फुलवारी निवासी अपनी सौतेली बहन के घर चला गया। इधर, महिला अपनी सौतेली बेटी के घर चली गई और वहीं से एम्‍स जाने-आने लगी। पीएचसी प्रभारी डाॅ रामानुजम ने आशंका जताई कि पंजाब से लौटे पुत्र व बहू के संपर्क में आने से ही वह संक्रमित हुई होगी। उन्होंने बताया कि संक्रमित महिला के संपर्क में 16 लोग आए हैं। इनमें लहसूना के उनके 10 परिजन व जहानाबाद के 6 रिश्‍तेदार शामिल हैं। उनसभी को जांच के लिए पटना भेजा जाएगा। उन्‍होंने बताया कि गांव को सील कर दिया जाएगा।

खाजपुरा चेन की तादाद बढ़ कर 19 पर पहुंच गई

पटना में लाेगाें के काेराेना वायरस से पाॅजिटिव हाेने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। खाजपुरा में तबाही मचाने के बाद अब काेराेना ने डाकबंगला चाैराहे पर भी दस्तक दे दी है। शुक्रवार काे डाकबंगला चाैराहा बैंक ऑफ बड़ाैदा के एक सीनियर मैनेजर की रिपाेर्ट पाॅजिटिव आ गई। वे खाजपुरा चेन से संक्रमित हुए। बैंक मैनेजर इस बैंक के चेस्ट हेड भी हैं। उनका परिवार यहां नहीं रहता है। वे पटेलनगर राेड नंबर 5 स्थित एक अपार्टमेंट में बैचलर रहते हैं। खाजपुरा चेन की तादाद बढ़कर 19 हाे गई। इसके साथ ही शुक्रवार को मसाैढ़ी की 50 साल की महिला की भी रिपाेर्ट पाॅजिटिव आ गई। उसका बेटा पंजाब से आया था। इस तरह पटना जिले में काेराेना की मरीजों की तादाद बढ़कर 27 हाे गई।

सबसे नया

To Top
//luvaihoo.com/afu.php?zoneid=3256832