क्या चल रहा है?

उधार रुपए न लौटाने पर अधेड़ ने दोस्त को सिलबट्टे से पीट-पीटकर मार डाला

  • हत्या करने के बाद आरोपी शव के पास ही बैठा रहा

नई दिल्ली. लॉक डाउन में हर किसी को रुपयों की जरूरत है। ऐसे में एक-दूसरे से उधार लेने व देने वाले भी लॉक डाउन के कारण दे नहीं पा रहे है। रुपए नहीं दिए जाने पर केशवपुरम इलाके में एक शख्स ने अपने दोस्त की सिलबट्‌टे से पीट-पीटकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान जसीम उर्फ जय सिंह (30) के रूप में हुई है। हत्या करने के बाद आरोपी 5 घंटे तक शव के पास बैठा रहा। इसके बाद आरोपी ने दोपहर 1 बजे पुलिस को कॉल कर इसकी सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे मंे लेकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी की पहचान यूपी के महाराजगंज, गांव दरौली निवासी सुभाष (51) के रूप में हुई है। पुलिस के मुताबिक जसीम और सुभाष लॉरेंस रोड पर किराए के मकान में पहली मंजिल पर रहते थे। दोनों रामपुरा स्थित फैक्ट्री में नौकरी करते थे। लॉकडाउन में फैक्ट्री बंद हो गई। दोनों दिल्ली में अपने कमरे पर ही कैद हो गए। सुभाष की पत्नी व 5 बच्चे बार-बार कॉल कर उसे किसी तरह घर आने का दबाव बनाने लगे। इस पर सुभाष जसीम को उधार दिए रुपए मांगने लगा।

जसीम लॉकडाउन और फैक्ट्री बंद होने की बात कर रुपए बाद में देने के लिए कह रहा था।  इसी बात को लेकर मंगलवार को दोनों के बीच झगड़ा हो गया। सुभाष ने जसीम के सिर पर सिल के बट्टे से वारकर उसकी हत्या कर दी। हत्या करने के बाद वह कहीं भागा नहीं, बल्कि शव के पास ही बैठा रहा। बाद में उसने दोपहर करीब 1 बजे पुलिस को कॉल कर दोस्त की हत्या करने की सूचना दी।

इधर, दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल ने बैरक के बाथरूम में फांसी लगाकर की खुदकुशी
मुखर्जी नगर स्थित किंग्सवे कैंप इलाके में एक हेड कांस्टेबल ने अपने बैरक के बाथरूम में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस को मौके पर से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। मृतक की पहचान भूप सिंह के रूप में हुई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू कर दिया है। भूप सिंह अलवर (राजस्थान) का रहने वाला था। परिवार में 2 बेटे और 1 शादीशुदा बेटी व अन्य सदस्य हैं। वह पिछले काफी समय से नॉर्थ पुलिसलाइन में आईटी सेल में तैनात था।

पीसीआर को बुधवार सुबह नॉर्थ पुलिसलाइन की दूसरी मंजिल पर स्थित बैरिक नंबर-8 के बाथरुम में भूप सिंह द्वारा हुक से फंदा लगाकर खुदकुशी करने की सूचना मिली। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारा और परिवार वालों को मामले की जानकारी दी। पुलिस ने शव को बाबू जगजीवन राम अस्पताल की मोर्चरी में भेज दिया। पुलिस उसके साथ रहने वाले साथियों से जानने की कोशिश कर रही है कि भूप सिंह की आखिरी समय में मानसिकता कैसी थी।

डिप्रेशन के शिकार युवक ने लाइसेंसी पिस्टल से गोली मारकर की आत्महत्या
न्यू उस्मानपुर इलाके में डिप्रेशन के शिकार एक युवक ने लाइसेंसी पिस्टल से खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। मृतक की पहचान समद (26) के रूप में हुई है। पुलिस को मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। शुरुआती जांच में पुलिस आशंका जता रही है कि डिप्रेशन की वजह से ही समद ने यह कदम उठाया। समद परिवार के साथ न्यू उस्मानपुर के गौतम विहार इलाके में रहता था। इसके परिवार में माता-पिता के अलावा 2 भाई हैं। समद की 2 साल पहले ही शादी हुई थी।

सबसे नया

To Top
//luvaihoo.com/afu.php?zoneid=3256832