काल चक्र

इंदौर में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, गुरुवार को सामने आए 22 नए केस

  • इंदौर में कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़कर हुई 235
  • कोरोना की वजह से अब तक जा चुकी 23 की जान

चीन के वुहान शहर से पूरे दुनिया में फैले कोरोना वायरस ने भारत में भी काफी कहर बरपा रखा है. मध्य प्रदेश में भी कोरोना का संक्रमण काफी फैल चुका है. राज्य में भोपाल और इंदौर जैसे बड़े शहर इस बीमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं. इंदौर में काफी प्रयासों के बावजूद भी कोरोना संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है. गुरुवार को इंदौर में कोरोना के 22 नए पॉजिटिव केस सामने आए.

इंदौर के इन 22 नए मामलों के साथ कोरोना पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़कर 235 हो गई है. इंदौर में अब तक कोरोना वायरस की वजह से 23 लोगों की जान जा चुकी है. जाहिर है लाख कोशिशों के बावजूद इंदौर में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं.

इंदौर जिला प्रशासन ने जारी किया अंतिम संस्कार से जुड़ा नया आदेश

इस बीच नई जानकारी सामने आई है कि इंदौर जिला प्रशासन ने मृतकों के अंतिम संस्कारों से संबंधित नया आदेश जारी किया है. आदेश के मुताबिक…

1) किसी भी अंतिम संस्कार के जुलूस में 5 से अधिक लोग शामिल नहीं होंगे (भले ही मौत कोरोना से हुई हो या नहीं)

2) अस्पतालों (कोरोना या अन्य वजहों से) में मरने वालों के शवों को सीधे श्मशान ले जाया जाएगा

3) कोरोना पॉजिटिव के शव को इंदौर के बाहर ले जाने की अनुमति नहीं होगी

कोरोना से डॉक्टर की मौत

कोरोना संक्रमण की चपेट में आए एक डॉक्टर ने गुरुवार सुबह दम तोड़ दिया. स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जडिया ने बताया कि डॉ. शत्रुधन पंजवानी पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव पाये गये थे. उसके बाद से उनका लगातार इलाज चल रहा था.

बताया जा रहा है कि खराब सेहत को देखते हुए उन्हें सबसे पहले डॉक्टर को इंदौर के गोकुलदास हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. उसके बाद भी उनकी हालत में सुधार न होने की वजह से सीएचएल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. लेकिन फिर भी कोई सुधार नहीं हुआ. इसके बाद उन्हें अरविंदों हॉस्पिटल में शिफ्ट किया था, लेकिन आज सुबह उनकी मृत्यु हो गई.

 

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832