क्या चल रहा है?

आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करने में बिहार 9वें स्थान पर, 10.60 लाख स्मार्टफोन उपभोक्ताओं ने इंस्टॉल किया

  • केंद्र ने कोरोना से लड़ने के लिए बिहार को दिए 147 करोड़ रुपए
  • उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने की ऐप में स्व-आकलन से की अपील

पटना. उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बिहार की जनता से ‘आरोग्य सेतु एप’ डाउनलोड कर कोरोना से जुड़ी तमाम जानकारियां व बरती जाने वाली सावधानियां प्राप्त करने के साथ स्व-आकलन करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि बिहार इस एप को डाउनलोड करने में पूरे देश में 9वें स्थान पर है। एप डाउनलोड करने में बिहार कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, तमिलनाडु व पंजाब जैसे अनेक राज्यों से आगे है। पूरे देश में 2.28 करोड़, वहीं बिहार में 10.60 लाख स्मार्ट फोन उपभोक्ताओं ने इस एप को डाउनलोड किया है। भारत में सिंगापुर व साउथ कोरिया से प्राप्त अनुभवों के आधार पर यह एप लांच किया गया है।
मोदी ने कहा कि देश की 11 भाषाओं वाले इस एप में उपभोक्ताओं के व्यक्तिगत डाटा को पूरी तरह से गोपनीय रखने के नियमों का पालन किया गया है। भारत सरकार बहुत जल्द फीचर फोन के लिए भी यह एप लांच करने वाली है। प्रधानमंत्री के अनुसार आने वाले दिनों में पूरे देश में भ्रमण के लिए इस एप का इस्तेमाल ई-पास के तौर पर भी किया जा सकेगा।

केंद्र ने कोरोना से लड़ने के लिए बिहार को दिए 147 करोड़ रुपए

केंद्र सरकार ने कोरोना के लड़ने के लिए बिहार को 147 करोड़ रुपए की सहायता राशि दी है। यह जानकारी देते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया कि इसमें कोविड-19 इमरजेंसी रेस्पांस के तहत 66.79 करोड़ और कोविड पैकेज के अन्तर्गत प्राप्त हुए। इस राशि से 4 हजार पीपीई, थर्मामीटर, 33 हजार एन-95 मास्क आदि खरीदे जाएंगे। उन्हाेंने ट्वीट किया- बिहार के लोग जिस गमछे का इस्तेमाल करते रहे हैं, वह कोरोना संक्रमण के दौर में मास्क के रूप में भी उपयोगी है, पर इसका भी मजाक उड़ाया जा रहा है। पीएम के लिट्टी-चोखा खाने से जिनके पेट में दर्द हुआ, उन्हें उनके गमछा लपेटने से सियासी जुकाम हो रहा है।

Source :www.bhaskar.com

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832