क्या चल रहा है?

अब तक 9 हजार 205 मामले: नगालैंड में पहला पॉजिटिव मरीज मिला, 26 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों में फैला संक्रमण

  • तमिलनाडु में कोरोना का इलाज करा रही महिला ने अस्पताल में स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया
  • आईसीएमआर ने कहा- कोरोना के इलाज के लिए 40 वैक्सीन पर काम जारी, पर अभी हमारे पास इसकी दवा मौजूद नहीं
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- कोरोना के 20% केस में ही आईसीयू सपोर्ट की जरूरत, 80% मामलों में बेहद हल्के लक्षण

नई दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 9 हजार को पार कर गई है। नगालैंड में पहला कोरोना संक्रमित मिलने के साथ ही देश के 26 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेश संक्रमण की जद में आ गए हैं। इस बीच, एक सुखद खबर तमिलनाडु से आई है। यहां इरोड के अस्पताल में कोरोना का इलाज करा रही महिला ने स्वस्थ शिशु को जन्म दिया है। इधर, दिल्ली में पुलिस का एक एएसआई रविवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। संक्रमित कर्मचारी की उम्र 56 साल है और वह 8 अप्रैल तक ड्यूटी पर आया था। इसके साथ ही दिल्ली पुलिस में कोरोना संक्रमित कर्मचारियों की संख्या तीन हो गई है।

रविवार को देश में कुल 753 नए मामले मिले। इनमें से महाराष्ट्र में 221, तमिलनाडु में 106, राजस्थान में 104 और मध्यप्रदेश में 33 मामले सामने आए। वहीं, दिल्ली में 85, गुजरात में 48 और उत्तर प्रदेश में 31 नए मरीज मिले। ये आंकड़े covid19india.org वेबसाइट और राज्य सरकारों के आंकड़ों के अनुसार हैं। वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, रविवार शाम 5 बजे तक देश में 8 हजार 447 लोग संक्रमित हैं। इनमें से 7 हजार 409 का इलाज चल रहा है। 764 ठीक हुए हैं और 273 की मौत हो चुकी है।

पूर्वोत्तर के 2 राज्यों में आज से शराब दुकानें खुलेंगी
असम और मेघालय में लॉकडाउन खत्म होने से पहले ही राज्य सरकारों ने सोमवार से शराब दुकानें खोलने को मंजूरी दे दी है। सरकार का कहना है कि यह फैसला लोगों की मांग को देखते हुए लिया गया। दुकानों में कम से कम स्टाफ रखने निर्देश दिया गया है। मेघालय में अभी तक कोरोना का एक भी केस सामने नहीं आया है। असम में 29 संक्रमित हैं।

पांच दिन जब संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले आए

दिनमामले
10 अप्रैल871
11 अप्रैल854
9 अप्रैल813
12 अप्रैल759
05 अप्रैल605

8 राज्य और 2 केंद्र शासित प्रदेश का हाल

  • मध्यप्रदेश, संक्रमित- 562: यहां रविवार 33 नए मामले सामने आए। इनमें से इंदौर और भोपाल में सबसे ज्यादा मरीज मिले। इंदौर में अब संक्रमितों की संख्या 298 और भोपाल में 134 हो गई है। इंदौर में कोराना से 2 और भोपाल में 1 मौत दर्ज की गई। इंदौर में दोनों मौत पहले हुई थीं, रिपोर्ट रविवार को पॉजिटिव आई। दोनों की उम्र 65 और 70 साल थी। भोपाल में रविवार को जान गंवाने वाले मरीज की उम्र 77 साल थी। वे डायबिटिक थे।

इंदौर के एमआरटीवी अस्पताल से रविवार को 7 कोरोना संक्रमितों की छुट्‌टी हुई तो हॉस्पिटल स्टाफ ने तालियां बजाकर उन्हें विदाई दी।

  • महाराष्ट्र, संक्रमित- 1982: यहां रविवार को 221 कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आईं। इनमें से मुंबई में 113, मीरा भयंदर में 7, पुणे में 4, नवीं मुंबई, ठाणे और वसई विरार में 2-2, जबकि रायगढ़, अमरावती, भिवंडी और पिंपरी-चिंचवड़ में 1-1 मरीज मिला। राज्य में शनिवार को 187 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आईं थी।
  • उत्तरप्रदेश, संक्रमित- 483: राज्य में रविवार को 31 नए मामले सामने आए। यहां कुल संक्रमितों में से 264 तब्लीगी जमात से संबंधित हैं। शनिवार को बहराइच में 21 जमातियों का क्वारैंटाइन का समय खत्म होने के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। इनमें इंडोनेशिया और थाईलैंड के नागरिक भी शामिल हैं। इस बीच, राज्य सरकार ने रामपुर से सपा सांसद आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी को अपने कब्जे में ले लिया है। यहां क्वारैंटाइन सेंटर बनाया जाएगा।
यह तस्वीर प्रयागराज की है। लॉकडाउन के बीच आलू-प्याज की खासी मांग है, ऐसे में किसान इसे स्टॉक करने की बजाय बेच रहे हैं।
  • राजस्थान, संक्रमित 804: यहां रविवार िको 104 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें से जयपुर में 35, बांसवाड़ा में 15, टोंक में 11, बीकानेर, और जोधपुर में 8-8, कोटा में 7, नागौर में 5, हनुमानगढ़ में 2, जबकि चूरू, जैसलमेर और सीकर 1-1 मरीज मिले हैं। 2 मरीज राज्य से बाहर के हैं। राज्य में शनिवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 139 नए लोग पॉजिटिव मिले थे। इनमें से जयपुर में 80 रिपोर्ट पॉजिटिव थीं।
यह तस्वीर जयपुर की है। लॉकडाउन की वजह से सड़कें सूनी हैं, ऐसे में इन पर पेंटिंग बनाकर लोगों को संक्रमण से बचने का संदेश दिया जा रहा है।
  • पंजाब, संक्रमित- 170: राज्य में रविवार को संक्रमण के 12 नए मामले मिले। वहीं, लॉकडाउन के बीच पास मांगने पर रविवार को एक निहंग ने एक पुलिस अधिकारी की कलाई काट दी। इसके बाद पुलिस ने कमांडो ऑपरेशन चलाकर इन्हें पकड़ा। पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि एसएसआई का ऑपरेशन सफल रहा है। डॉक्टरों की टीम ने कलाई को वापस जोड़ दिया है। चंडीगढ़ पीजीआई के मुताबिक, डॉक्टरों की टीम को कलाई को जोड़ने में तीन घंटे से ज्यादा लंबा ऑपरेशन करना पड़ा।
अमृतसर में संक्रमण से अधिक प्रभावित क्षेत्रों में मेडिकल टीम घर-घर जाकर मरीजों की जांच कर रही है। यहां 11 संक्रमित हैं।
  • बिहार, संक्रमित- 64: पटना मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल से शनिवार को 72 साल की कोरोना संक्रमण की संदिग्ध फरार हो गई। उसका सैम्पल ले लिया गया था। जांच रिपोर्ट का इंतजार है। पीएमसीएच ने महिला के लापता होने की लिखित सूचना पुलिस को दे दी है। महिला सीवान की रहने वाली थी। राज्य में शनिवार को चार मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
  • दिल्ली, संक्रमित- 1154: राजधानी में रविवार को 85 नए केस सामने आए। निजामुद्दीन मरकज में जुटी तब्लीगी जमात को देश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने की बड़ी वजह माना जा रहा है, लेकिन अब केजरीवाल सरकार ने अपने हेल्थ बुलेटिन से मरकज कैटेगरी हटा दी है। इसकी जगह अंडर स्पेशल ऑपरेशंस लिखा जा रहा है। मरकज के लोगों के आंकड़े अलग लिखे जाने पर दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग ने आपत्ति जताई थी।
दिल्ली के एक कब्रिस्तान में कोरोना संक्रमित को दफनाया जा रहा है। इस महामारी से मरने वालों की अंतिम विदाई में परिवार के बमुश्किल 2-3 सदस्य ही शामिल हो पा रहे हैं।
  • गुजरात, संक्रमित- 516: यहां रविवार को 48 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें से 23 मरीज अहमदाबाद में और 2 आणंद में मिले हैं। राज्य में शनिवार को 90 संक्रमित मिले थे। यहां सबसे ज्यादा 251 संक्रिमित अहमदाबाद में और इसके बाद 77 वडोदरा में हैं।
सूरत में नेव्या एनजीओ के ये सदस्य लॉकडाउन के बीच जरूरतमंदों के लिए हर दिन खाना उपलब्ध करा रहे हैं।

रविवार तक करीब दो लाख सैंपल की जांच
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईएमसीआर) ने कहा कि रविवार रात 9 बजे तक देश के 1 लाख 81 हजार 28 लोगों से लिए गए कुल 1 लाख 95 हजार 748 सैंपल की जांच की गई है। इधर, न्यूज एजेंसी ने रिपोर्ट्स के हवाले से बताया है कि देश में अब तक मेडिकल प्रोफेशन से जुड़े करीब 90 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनमें डॉक्टर्स, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ शामिल हैं।

देश में कोरोना की 40 वैक्सीन पर काम जारी
आईएमसीआर ने रविवार को कहा कि देश में कोरोना की 40 वैक्सीन पर काम जारी है, लेकिन अभी की कंडीशन यह है कि हमारे पास कोरोना की कोई दवा नहीं है। वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कोरोना संक्रमण के 20% मामलों में ही आईसीयू सपोर्ट की जरूरत है। शेष 80% मामलों में संक्रमण के बेहद हल्के लक्षण हैं। मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि आज अगर हमें 1671 बिस्तरों की जरूरत है, तो हमारे पास एक लाख पांच हजार बेड उपलब्ध हैं। 601 अस्पतालों में केवल कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जा रहा है।

Source :www.bhaskar.com

सबसे नया

To Top
//azoaltou.com/afu.php?zoneid=3256832