क्या चल रहा है?

अब तक 1986 पॉजिटिव; अयोध्या में 24 जून तक धारा 144 लागू, प्रयागराज से 10 हजार छात्रों को घर भेजने की कवायद शुरू

  • यूपी में अब तक संक्रमण से 399 लोग ठीक हो चुके हैं जबिक 31 लोगों की मौत हो चुकी है
  • सीएम के निर्देश पर 10 हजार छात्रों को 300 बसों से उनके गृह जनपद तक पहुंचाया जाएगा

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस का संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है। उप्र में पिछले 24 घंटे के भीतर 113 नए मरीज सामने आए हैं। अब तक राज्य में कुल 1986 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं, जिसमें से 1556 एक्टिव केस हैं। अब तक 399 मरीज सही होने के बाद डिस्चार्ज किए जा चुके हैं और 31 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच यूपी सरकार कोटा के बाद प्रयागराज के 10 हज़ार छात्रों को उनके घर भेजना शुरू कर दिया है। यह प्रक्रिया दो चरणों में पूरी करने का निर्देश सीएम योगी ने दिया है। वहीं दूसरी ओार अयोध्या के डीएम ने 24 वहां लगी धारा 144 को 24 जून तक बढ़ाने का आदेश जारी कर दिया है।
लखनऊ; कोटा के हजारों छात्रों को उनके घरों तक पहुंचाने के बाद सीएम योगी के निर्देश पर अब प्रदेश के उन छात्रों को भी घर पहुंचाया जाएगा, जो प्रयागराज में पढ़ाई कर रहे हैं। इस संबंध में करीब 10 हजार छात्रों को 300 बसों से उनके गृह जनपद तक पहुंचाया जाएगा। इससे पहले हरियाणा राज्य में फंसे मजदूरों को उत्तर प्रदेश लाया गया हैं।  सोमवार देर रात से प्रयागराज से दो चरणों मे छात्रों को उनके घर भेजा जाएगा। इसके अलावा प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने के लिए हर जिले में 15 से 25 हजार क्षमता के क्वारैंटाइन सेंटरों के निर्माण का निर्देश भी दिया है।

प्रयागराज में पूरे प्रदेश के अलग-अलग जिलों से आकर पढ़ाई कर रहे करीब दस हजार छात्रों को उनके गृहजनपद भेजने की कवायद सरकार ने शुरू कर दी है। इसी के तहत सोमवार रात को बसों के माध्यम से छात्रों को उनके घरों के लिए रवाना किया गया।

प्रयागराज में पूरे प्रदेश के अलग-अलग जिलों से आकर पढ़ाई कर रहे करीब दस हजार छात्रों को उनके गृहजनपद भेजने की कवायद सरकार ने शुरू कर दी है। इसी के तहत सोमवार रात को बसों के माध्यम से छात्रों को उनके घरों के लिए रवाना किया गया।अयोध्या में 24 जून तक धारा 144 लागू रखने का आदेश 

अयोध्या: कोरोनावायरस के संक्रमण को लेकर जिले में धारा 144 को 24 जून तक बढ़ दिया गया है। डीएम अनुज कुमार झा ने इसका आदेश जारी कर दिया है। जिसमें कोविड 19 को लेकर लगे प्रतिबंधों को भी निषेधाज्ञा में जोड़ा गया है। गुटका मसाला व मादक पदार्थों की बिक्री पर प्रतिबंध जारी रहेगा। सोशल डिस्टेंस बनाना होगा। बाइक पर एक व कार पर दो सवारी ही विशेष परिस्थिति में सफर कर सकेंगे। मीडिया को डिबेट व अन्य कार्यक्रमों के आयोजन के लिए अनुमति लेनी पड़ेगी। इसके साथ ही सभी धार्मिक राजनीतिक व अन्य सार्वजनिक कार्यक्रम पर भी रोक लगा दी गई है।

संतकबीरनगर; संतकबीरनगर में पॉजिटिव मरीजो के मिलने का सिलसिला जारी है। सोमवार देर रात को दो और कोरोना पाजिटिव मिले हैं। एक बखिरा का रहने वाला युवक है और दूसरा मगहर की महिला में कोरोना की पुष्टि जिलाधिकारी ने की है। जिले में अब कुल 23 लोग पॉजिटिव हो गए हैं।

संतकबीरनगर में सोमवार रात को दो नए पॉजिटिव केस पाए गए। केस सामने अने के बाद मरीजों के परिजनों को क्वारेंटाइन कर दिया गया है।
संतकबीरनगर में सोमवार रात को दो नए पॉजिटिव केस पाए गए। केस सामने अने के बाद मरीजों के परिजनों को क्वारेंटाइन कर दिया गया है।

झांसी: जनपद के रक्षा थाना क्षेत्र में स्थित यूपी एमपी बॉर्डर पुलिस के लिए परेशानी का सबब बनता जा रहा है। शिवपुरी हाईवे पर हैदराबाद, तेलंगाना, सूरत और इंदौर से हर रोज हजारों प्रवासी मजदूर अपने घरों के लिए वापस आ रहे हैं। पुलिस इन्हें झांसी सीमा में प्रवेश नहीं करने दे रही है। लेकिन यह पुलिस से छिपकर खेतों के रास्ते यूपी-एमपी बॉर्डर पार कर जाते हैं। प्रशासन ने यूपी एमपी बॉर्डर पर चार श्रेणी की सुरक्षा का इंतजाम किया है। पुलिस, पीएसी, एनसीसी और एरियल सर्विस इसके अलावा आस-पास के गांव में ग्राम प्रधानों ने बैरिकेटिंग लगा रखी है। इतनी कड़ी सुरक्षा के बावजूद अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी मजदूर छिपकर खेतों के रास्ते जनपद की सीमा में प्रवेश कर रहे हैं। ऐसे मजदूरों को बड़ागांव थाना क्षेत्र में लगी बेरी कटिंग पर रोक दिया जाता है और वहां से क्वारैंटाइन सेंटर भेजा जा रहा है।

कड़ी सुरक्षा के बावजूद अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी मजदूर छिपकर खेतों के रास्ते जनपद की सीमा में प्रवेश कर रहे हैं। ऐसे मजदूरों को बड़ागांव थाना क्षेत्र में लगी बेरी कटिंग पर रोक दिया जाता है और वहां से क्वारैंटाइन सेंटर भेजा जा रहा है।
कड़ी सुरक्षा के बावजूद अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी मजदूर छिपकर खेतों के रास्ते जनपद की सीमा में प्रवेश कर रहे हैं। ऐसे मजदूरों को बड़ागांव थाना क्षेत्र में लगी बेरी कटिंग पर रोक दिया जाता है और वहां से क्वारैंटाइन सेंटर भेजा जा रहा है।

सबसे नया

To Top
//luvaihoo.com/afu.php?zoneid=3256832